Home रोचक तथ्य महात्मा गांधी से जुड़े 27+Facts About Mahatma Gandhi

महात्मा गांधी से जुड़े 27+Facts About Mahatma Gandhi

Facts About Mahatma Gandhi :-इस आर्टिकल में हमने गांधीजी से सम्बद्ध बहुत सारे कुछ कम सुने गए तथ्यों का संकलन किया है. इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने से आपको गांधीजी के व्यक्तित्व के समग्र विश्लेषण करने का एक नया नजरिया मिलेगा.कम से कम एकाध कुछ ऐसे तथ्यों से आप रूबरू होंगे जो यक़ीनन विरोधाभासी होंगे और गाँधीजी के व्यक्तित्व को और जटिल बनाएंगे…

पिछली शताब्दी में जिन कुछ महापुरुषों ने भारतीयता तथा भारत का मान विश्व में बढ़ाया है उनमें महात्मा गांधी का नाम स्वर्ण अक्षरों में अंकित है. गांधी की समग्र सामाजिक राजनीतिक  तथा नैतिक दृष्टिकोण ही आज के भारत का स्वरूप है. तभी विश्व के महानतम वैज्ञानिकों में से एक अल्बर्ट आइंस्टीन ने गांधी के बारे में कहा था कि आने वाली पीढ़ियों के लिए यह विश्वास करना शायद मुश्किल होगा कि सचमुच इतना महान कोई व्यक्ति इस धरती पर कभी था. 

महात्मा गांधी सत्य और अहिंसा पर चलने वाले महान भारतीय नेता थे. जिन्होंने अपने सत्य के अनुप्रयोगों से भारतीय राजनीति को एक अलग दिशा प्रदान की. 

Facts About Mahatma Gandhi

महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 में गुजरात राज्य के पोरबंदर में हुआ था. इनके पिता करमचंद गांधी राजकोट रियासत के दीवान थे. महात्मा गांधी वकालत/बैरिस्टरी की डिग्री प्राप्त करने हेतु विलायत(इंग्लैंड) गए. चूँकि वकालत उस ज़माने में बहुत ही प्रतिष्ठित करियर माना जाता था. 

विज्ञापन

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का संघर्ष तो वैसे 1857 से..या कह लें कि अंग्रेजों के भारत में आगमन के समय से ही चल रहा था. लेकिन महात्मा गांधी के आने से उस संघर्ष को एक नई दिशा मिली. गांधी के योगदान के महत्व का अंदाजा सिर्फ इस बात से लगाया जा सकता है कि भारतीय राजनीति में उनका प्रवेश 1915 ईस्वी में हुआ और 1947 ईस्वी में भारत आजाद हो गया.यहाँ जब मैं गांधी का महिमामंडन कर रहा हूं तो इसका यह बिलकुल भी मतलब नहीं है कि गरम दल के नेताओं का योगदान कोई कम था. लेकिन अहिंसा को एक रणनीतिक हथियार के तौर पर गांधी जी ने सफलतापूर्वक उपयोग किया इसमें मुझे कोई दुविधा कम से कम आज तो नहीं है. 

यहां प्रस्तुत है “facts about mahatma gandhi” जो महात्मा गांधी के बारे में आपकी समझ को थोड़ा और इंप्रूव करेगी.इन तथ्यों(facts) को भलीभांति समझ कर आप गांधी के व्यक्तित्व के सभी पक्षों से रूबरू हो सकेंगे. इन तथ्यों का उपयोग आप गांधी जी के बारे में अपने विचारों को मजबूती प्रदान करने हेतु निबंध लेखन भाषण अथवा अन्य जगहों पर कर सकते हैं…

Facts About Mahatma Gandhi

  • महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को हुआ था, दिन शुक्रवार था.भारत को स्वतंत्रता 15 अगस्त 1947 को मिली थी, दिन शुक्रवार था और गांधी की हत्या का दिन भी शुक्रवार ही था.
  • महात्मा गांधी ने अलफ्रेड हाई स्कूल राजकोट से पढ़ाई की थी तथा वकालत की उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए वह इंग्लैंड गए थे. 
  • गांधी जी के जन्म दिवस 2 अक्टूबर को पूरी दुनिया में अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाता है.
  • गांधी अपने माता पिता की सबसे छोटी संतान थे. उनसे बड़े दो भाई और एक बहन थी.
  • गांधी एक आस्तिक हिंदू थे लेकिन धार्मिक कुरीतियों के खिलाफ मुखर थे.
  • महात्मा गांधी ने दक्षिण अफ्रीका में अपने सत्याग्रह के प्रयोग के दौरान लगभग 1100 एकड़ में एक कॉलोनी टॉलस्टॉय फार्म की स्थापना की थी.
  • महात्मा गांधी खादी के बिना सिले हुए कपड़े पहनते थे. ऐसा वह समानता दर्शाने के लिए करते थे. उनका स्पष्ट मत था कि वह अपने शरीर को पूरी तरह तभी ढकेंगे,जब इस देश के 40 करोड़ उनके भाइयों और बहनों के तन पर पूरा पूरा कपड़ा होगा. महात्मा गांधी ने स्वदेशी पर बहुत जोर दिया था. इसलिए उन्होंने खादी को एक सामुदायिक विकास कार्यक्रम के जैसे विकसित किया. उनका स्पष्ट मत था कि जब हम अपने देश में बने कपड़े पहनेंगे तो इससे जहां एक ओर हमारे देश के लोग स्वाबलंबी बनेंगे, वहीं दूसरी ओर इंग्लैंड के मैनचेस्टर और लंकाशायर से बन कर भारत आने वाली कपड़ों की बिक्री घट जाएगी. इससे इंग्लैंड की अर्थव्यवस्था पर काफी नकारात्मक असर पड़ेगा और भारतवर्ष के स्वतंत्र होने की संभावना भी बढ़ेगी.
  • महात्मा गांधी के बारे में एक तथ्य यह भी है कि  वह जब भी कोई आंदोलन करते थे. अंग्रेजी हुकूमत किसी को भी गांधी जी के आंदोलन में शामिल तस्वीर खींचने की इजाजत नहीं देते थे. वह ऐसा इस भय से करते थे कि कहीं गांधी की तस्वीर अगर लोगों तक पहुंची तो आंदोलन का स्वरुप बहुत बड़ा हो जायेगा.
  • Mahatma Gandhi को नोबेल पुरस्कार नहीं मिल सका लेकिन दुनिया के ऐसे कई नेताओं को नोबेल पुरस्कार मिला है जिनकी विचारधारा अंशतः या पूर्णतः गांधी के सिद्धांतों तथा गांधी की शिक्षाओं पर आधारित थी.
  • महात्मा गांधी को नोबेल पुरस्कार के लिए पांच बार नामित किया गया था.1937,1938, 1940, 1947 तथा 1948 में… जबकि उन्हें कोई भी नोबेल पुरस्कार नहीं मिला. बाद में नोबेल कमेटी ने इस बात पर  काफी अफसोस जाहिर किया.
  • उन्हीं के सिद्धांतों पर चलने वाले कई नेता जैसे नेलसन मंडेला दक्षिण अफ्रीका से, आंग संग सु की म्यांमार से और मार्टिन लूथर किंग जूनियर अमेरिका से को नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया. 
  • महात्मा गांधी ने प्रथम विश्व युद्ध में इंग्लैंड का समर्थन किया था क्योंकि उन्हें इंग्लैंड से इस प्रकार का वायदा  मिला था कि प्रथम विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद इंग्लैंड भारत को स्वतंत्र कर देगा.ऐसा नहीं होने पर उन्होंने 1920 में असहयोग आंदोलन की शुरुआत की.प्रथम असहयोग आंदोलन को उन्होंने चौरी-चौड़ा  में हुए हिंसक कृत्य के बाद 1921 में स्थगित कर दिया.
  • महात्मा गांधी ने 1913 से लेकर 1938 के बीच 18 किलोमीटर प्रतिदिन के हिसाब से  लगभग 79000 किलोमीटर की पदयात्रा की. 79000 किलोमीटर की पदयात्रा पृथ्वी के दो बार परिक्रमा करने के समान ही है.  
  • पहले जब गांधीजी स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लेने आए तो वह बहुत प्रसिद्ध नहीं थे. चंपारण यात्रा के दौरान कुछ गांव वालों ने उन्हें चमत्कारी बाबा कह कर उनका भजन पूजन करने लगे. गांधी ने इसका घोर विरोध किया और उन्हें फिर अपने बारे में सही-सही बताया कि वह कोई बाबा नहीं है .देश को आजाद कराने के लिए घर से बाहर आए हैं. 
  • वैसे तो गांधीजी की कद काठी बहुत ही साधारण थी लेकिन उन्हें फुटबॉल खेल से बहुत लगाव था. 
  • महात्मा गांधी ने 1942 में अंग्रेजो भारत छोड़ो (Quit India Movement) का नारा दिया था,और इसमें अगर देखा जाए तो उन्होंने थोड़ी हिंसा की बात की थी.
  • अल्बर्ट आइंस्टीन ने गांधी(Mahatma Gandhi) को आने वाली पीढ़ियों के लिए एक प्रेरणा स्रोत बताया था. 
  • Dr. B R अंबेडकर महात्मा गांधी के धुर विरोधियों में से एक थे. लेकिन यह भी एक तथ्य है की संविधान सभा में Dr. B R अंबेडकर को महात्मा गांधी की सिफारिश पर ही शामिल किया गया था. 
  • महात्मा गांधी बहुत लिखते थे और उन्होंने कई पत्र-पत्रिकाओं का संपादन किया तथा हिंद स्वराज और सत्य के मेरे प्रयोग जैसे अन्य कई पुस्तकें भी लिखी. 
  • दुनिया की सुप्रसिद्ध पत्रिका टाइम(Time Magazine) ने Mahatma Gandhi को 1930 ईस्वी में पर्सन ऑफ द ईयर के सम्मान से नवाजा था 
  • अपने संपूर्ण स्वातंत्र्य संघर्ष के जीवन में महात्मा गांधी कुल 14 बार जेल गए तथा लगभग 6 साल की समय अवधि उन्होंने जेल में बितायी.
  • भारत सहित दुनिया के कई देशों में सड़कों के नाम महात्मा गांधी के नाम पर है. भारत में महात्मा गाँधी के नाम पर सड़कों की संख्या लगभग 53 है तथा  दुनिया के दूसरे देशों में 48 सड़क का नामकरण गांधी के नाम पर है.
  • कांग्रेस  के त्रिपुरी सम्मेलन से पहले महात्मा गांधी का सुभाष चंद्र बोस के साथ संबंध अच्छा था. 1936 में तो एक बार सुभाष चंद्र बोस के लिए उन्होंने डाइट चार्ट भी बना दिया था. क्योंकि गांधी सुभाष चंद्र बोस को देश के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण मानते थे. 
  • सुभाष चंद्र बोस ने अंग्रेजो की कैद से बच निकलने की बाद  देश को पहली बार बर्लिन से रेडियो पर संबोधित किया.1944 की उसी सम्बोधन में उन्होंने महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता की पदवी से संबोधित किया. 
  • महात्मा गांधी जीवन पर्यंत तृतीय श्रेणी में रेलवे की यात्राएं करते रहे ताकि उनको अपने देशवासियों की जीवन दशा की सही स्थिति का ज्ञान हो सके. जिससे वह उनके जीवन में कुछ सकारात्मक बदलाव कर पाने का प्रयास कर सकें. 
  • Mahatma Gandhi दूध से बनी अथवा एनिमल फैट से बनी चीजें नहीं खाते थे वह शुद्ध रूप से शाकाहारी थे.लेकिन बकरी का दूध अवश्य पीते थे…

Bad Facts About Mahatma Gandhi

महात्मा गांधी जी जिनको दुनिया महात्मा के नाम से संबोधित करती है .उनके चरित्र से सम्बंधित कुछ नकारात्मक पहलू जिसे लेकर उनपर लांछन भी लगता है जिसमें दो तथ्य विशेष  उल्लेखनीय है का जिक्र आपके साथ कर रहा हूं.

  • महात्मा गांधी ने वैसे तो 35 वर्ष की उम्र में ब्रह्मचर्य व्रत ले लिया था.लेकिन वह सरला देवी चौधरानी को अपनी स्पिरिचुअल वाइफ(आध्यात्मिक पत्नी) बोलते थे.उन्होंने कुछ जगहों पर ऐसा उल्लेख किया है कि सरला देवी चौधरानी के लिए स्वयं द्वारा स्थापित किए गए नियमों को कई बार गांधीजी ने तोड़ा. सरला देवी चौधरानी जो कि रवींद्र  नाथ टैगोर की भतीजी थी के साथ गांधी का संबंध किसी अन्य स्तर का था. यहां पर उन्होंने सरला देवी चौधरानी को अपनी आध्यात्मिक पत्नी(spiritual wife) कहा है. और यह भी उल्लेख किया है कि उनके साथ उनका आत्मिक रिश्ता है. यह एक महात्मा के लिए उचित तो नहीं लगता लेकिन हमें उनकी साफगोई की दाद देनी पड़ेगी.  गांधी और सरला देवी चौधरानी दोनों एक दूसरे के काफी करीब रहे हैं. बाद के दिनों में गांधी ने ये भी माना कि इस रिश्ते की वजह से उनकी( सरला देवी चौधरानी की ) शादी टूटते-टूटते बची …
  • महात्मा गांधी द्वारा ब्रह्मचर्य व्रत का प्रण लेने के बाद आभा और मनु नाम की दो लड़कियों (जो की उनकी शिष्य तथा सम्बंधित भी थी ) के साथ नग्न अवस्था में एक ही बिस्तर पर सोते थे.ताकि वह अपने ब्रह्मचर्य की परीक्षा कर सकें. गांधी जैसे महान व्यक्तित्व के बारे में नकारात्मक टिप्पणी करना तो उचित नहीं लगता, लेकिन यह थोड़ा विवादास्पद लगता है.

विज्ञापन

उम्मीद यही है की महात्मा गांधी से जुड़े कुछ बेहद महत्वपूर्ण तथ्यों का यह संकलन(facts about mahatma gandhi) आपको रुचिकर एवं ज्ञानवर्धक लगा होगा. हमने इस आर्टिकल को लिखने में काफी समय लगाया है, फिर भी कुछ त्रुटि अगर हो तो कृपया कमेंट बॉक्स के माध्यम से सूचित करें. साथ ही महात्मा गांधी के बारे में आप क्या सोचते हैं ? यह भी जरूर लिखे कमेंट बॉक्स में …

Note :- सभी जानकारियां इंटरनेट पर मौजूद विभिन्न स्त्रोतों से ली गयी है.

Read More Articles:

Admin
विचारक्रांति(Vichar-Kranti.Com) पर पढ़िए जीवनी, सफलता की कहानियां,प्रेरक तथ्य तथा जीवन से जुडी और भी बहुत कुछ और बनिए विचारक्रांति परिवार का हिस्सा . विचारक्रांति जीवन के हर क्षेत्र में....

इस पोस्ट पर अपनी प्रतिक्रिया,अपनी बातें यहां नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर हम तक जरूर भेजिए.सभी नए पोस्ट के ईमेल नोटिफिकेशन पाने के लिए नीचे चेकबॉक्स को टिक करिये. धन्यवाद...!

कुछ नए पोस्ट्स

7 Motivational Hindi Story-जिसे पढ़ने से बदलती है जिंदगी !

प्रेरक लघु कथाएं (motivational story in hindi) पढ़ने में रुचिकर होती...

Traffic signs & rules in hindi -यातायात संकेत नियम और मतलब

इस लेख(traffic signs in hindi) के माध्यम से हम चर्चा कर...

Air Pollution Essay-वायु प्रदूषण पर निबंध

वायु प्रदुषण (air pollution) पर चर्चा इसलिए अहम् हो जाती है...

Sonam Wangchuk- सोनम वांगचुक की जीवनी

sonam wangchuk अगर समाज में बदलाव लाना है, तो एक छोटी...

Fake Online Gurus -नकली ऑनलाइन गुरुओं से सावधान !

नमस्कार! उम्मीद करता हूं आप सब अच्छे ही होंगे...इस पोस्ट(fake online...

Business Ideas -जो गढ़ेंगे भविष्य में सफलताओं की कहानियां

भविष्य के व्यवसाय के बारे में संक्षिप्त एवं अहम् जानकारी- Post...

Tulsidas ke Dohe-तुलसीदास जी के सीख भरे दोहे अर्थ सहित

Tulsidas ke Dohe:-गोस्वामी तुलसीदास जी भारतीय संस्कृति में भक्ति काल के...

aaj ka suvichar-आज के सुविचार हिंदी में पढ़िए

aaj ka suvichar:-सुबह सुबह  जो हमारे कानों में कुछ सकारात्मक और...

Sanskrit Shlokas-प्रेरक संस्कृत श्लोक विद्यार्थियों के लिए

sanskrit shlokas: संस्कृत कभी हमारी संस्कृति की मूल और वाहक भाषा...
- Advertisment -

Vichar-Kranti

पढ़िए जीवन बदलने वाले Ideas,महापुरुषों के प्रेरक वचन,जीवनी, करियर के विकल्प और भी बहुत कुछ...जुड़िये विचारक्रांति से

Advt.-
error: Content is protected !!