Homeसामान्य ज्ञानCID और CBI क्या है एवं इनमें अंतर क्या है

CID और CBI क्या है एवं इनमें अंतर क्या है

समाज में जब भी कोई संगीन अपराध  रहस्यमयी तरीके से घटित होता है। तब उसकी गुत्थी सुलझाने के लिए अपराधिक जांच एजेंसियों का सहारा लिया जाता है। जो कि गंभीर प्रवृत्ति के  अपराधों की निष्पक्ष जांच करती हैं। CID तथा CBI इन दोनों ही एजेंसियों का कार्यक्षेत्र बिल्कुल अलग है ।

CID जहां संबंधित राज्य विशेष में होने वाली आपराधिक गतिविधियों की जांच करती है वही राष्ट्रीय स्तर के आपराधिक घटनाओं का जिम्मा सीबीआई संभालती है । इन दोनों के नाम और कार्य प्रक्रिया को लेकर थोड़ी बहुत सूचनाओं की कमी है । इसलिए इस लेख का केंद्र बिन्दु है सीआईडी एवं सीबीआई में अंतर… यदि आप इसके बारे में पढ़ने में रुचि रखते हैं तो पढिए आगे । 

Advertisements

मित्र, हमारे देश में CID (Crime Investigation  Department) और CBI (Central Bureau of Investigation) दो प्रकार की जांच एजेंसियां कार्यरत हैं। जिनके द्वारा कई जटिल और हाई प्रोफाइल अपराधिक मामलों का निपटारा किया जाता है। ये जांच एजेंसी किस प्रकार से कार्य करती हैं, आईये जानते हैं इनके बारे में आगे … 

सीआईडी (CID) क्या है?

सीआईडी को हिन्दी में अपराध जांच विभाग एवं अंग्रेजी में Central Investigation Department कहते हैं । यह विशेष रूप से राज्य स्तरीय आपराधिक गतिविधियों की जांच करती है । सीआईडी संबंधित राज्य के पुलिस का ही एक हिस्सा होता है । ब्रिटिश सरकार में पुलिस आयोग की सिफारिशों पर सीआईडी की स्थापना वर्ष 1902 में की गई थी । इसमें राज्य पुलिस के लोगों को ही विशेष रूप से प्रशिक्षित करके नियुक्त किया जाता है । 

आगे जानिए बिन्दुवार सीआईडी के बारे में प्रमुख बातें – 

  • इसकी स्थापना ब्रिटिश सरकार के समय वर्ष 1902 में हुई थी ।
  • सीआईडी (CID) किसी भी आपराधिक मामलों में पुलिस की खुफिया तरीके से सहायता करती है।
  • सीआईडी राज्य स्तरीय अपराधों की जांच करती है । 
  • इसका संचालन राज्य सरकार या संबंधित राज्य के उच्च न्यायालय की देख रेख में किया जाता है । 
  • चोरी, अपहरण, लूट आदि से जुड़े संगीन जुर्म के मामलों में  पुलिस के साथ-साथ सीआईडी (CID) भी जांच करती है।

सीबीआई (CBI) क्या है?

सीबीआई भारत देश की केंद्रीय अपराधिक जांच एजेंसी है। जो मुख्यत: राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले घोटालों, हत्या और लूटपाट आदि मामलों की जांच करती है। इसकी स्थापना 1941 में हुई थी । वर्ष 1946 में दिल्ली विशेष पुलिस प्रतिष्ठान अधिनियम के तहत सीबीआई को विभिन्न मामलों में जांच करने की शक्तियां प्रदान की गईं । सीबीआई का मुख्यालय दिल्ली में है । इसे आप राष्ट्रीय स्तर पर किसी भी आपराधिक गतिविधि के लिए मुख्य अन्वेषण एजेंसी मान सकते हैं । 

आगे प्रस्तुत है सीबीआई से जुड़े प्रमुख तथ्य :-

  • मित्र, CBI का Full Form होता है –  Central Bureau of Investigation सीबीआई को हिन्दी में केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो कहा जाता है । 
  • इसकी स्थापना साल 1941 में  विशेष पुलिस प्रतिष्ठान के रूप में हुई थी,जिसका काम था- द्वितीय विश्व युद्ध में तत्कालीन ब्रिटिश सरकार के भारतीय युद्ध और आपूर्ति विभाग के लेन-देन में किए गए भ्रष्टाचार के मामलों की जांच करना ! । इस के लिए इसे वर्ष 1946 में जांच संबंधी अधिकार दिल्ली विशेष पुलिस प्रतिष्ठान अधिनियम के अंतर्गत दिए गए । लेकिन इसका नाम वर्ष 1963 में रखा गया।
  • संथानम समिति की सिफारिशों के तहत इसे सन 1963 में DOPT के अधीन किया गया । 
  • पहले केवल केंद्रीय कर्मचारियों द्वारा किए गए भ्रष्टाचार के मामलों की जांच के लिए गठित इस एजेंसी को आज राष्ट्रीय स्तर के तमाम आपराधिक गतिविधियों के जांच का जिम्मा दे दिया गया है ।
  • किसी भी राज्य में मामले की जांच के लिए भारत सरकार राज्य सरकार की सिफारिश के आधार पर ही केस सीबीआई को सौंपती है । वही हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट राज्य सरकार की सलाह अथवा सहमति के बिना भी किसी घटना की जांच का आदेश दे सकती है।  

सीआईडी और सीबीआई में अंतर

आईए बात करते हैं सीआईडी(CID) एवं सीबीआई(CBI) के प्रमुख अंतरों के बारे में 

क्रम संख्या सीबीआई (CBI )सीआईडी (CID )
इसका पूरा नाम है सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन अथवा केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो । सीआईडी को अपराध जांच विभाग अथवा क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट कहा जाता है ।
केंद्र सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के अंतर्गत काम करती है जो प्रधानमंत्री कार्यालय को सीधे रिपोर्ट करता है । यह राज्य सरकार के अंतर्गत काम करता है
इसकी स्थापना 1941 में हुई थी । इसकी स्थापना 1902  में हुई थी  ।
राज्य स्तरीय जांच के लिए राज्य सरकार की सिफारिश आवश्यक होती है । यह केवल राज्य के लिए ही होता है ।
5सीबीआई में नियुक्तियों का कार्य स्टॉफ सिलेक्शन कमीशन (SSC)  द्वारा किया जाता है । इसमें नियुक्ति राज्य पुलिस से ही की जाती है । 

इस प्रकार हम कह सकते हैं कि सीआइडी (CID) राज्य पुलिस की ही एक सहायक खुफिया विभाग है। जिसपर राज्य के सभी कानून पूर्ण रूप से लागू होते हैं। वहीं सीबीआई (CBI) केंद्र सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के अंतर्गत आती है।

सीआईडी जहां राज्य स्तर के मामलों को देखती है वहीं सीबीआई सौंपें गए राष्ट्रीय स्तर के हाई प्रोफाइल मामलों एवं इंटरपोल से संबंधित अन्तराष्ट्रीय मामलों को भी देखती है ।

Advertisements

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह रोचक जानकारी – सीआईडी और सीबीआई में अंतर अवश्य ही पसंद आई होगी। ऐसे ही ज्ञानवर्धक लेख पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट vicharKranti.com पर आते रहिए एवं subscription बटन को ऑन कर लीजिए ।

निवेदन : – हमें अपनी टीम में ऐसे लोगों की जरूरत है जो हिन्दी में अच्छा लिख सकते हों । यदि आप हमारी टीम में एक कंटेन्ट राइटर के रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आगे दिए गए ईमेल पते पर मेल कीजिए । प्रत्येक लेख और आपकी लेखन क्षमता के हिसाब से उचित राशि प्रदान की जाएगी । हमसे जुड़ने के लिए संपर्क कीजिये Email :contact@vicharkranti.com

विचारक्रान्ति के लिए – अंशिका

Advertisements
Vichar Kranti
विचारक्रांति टीम (Vichar-Kranti.Com) - चंद उत्साही लोगों की टीम जो आप तक पहुंचाना चाहते हैं सही और जीवनोपयोगी सूचनाओं के साथ जीवन बदलने वाले सकारात्मक विचारपुंजों को । उदेश्य सिर्फ एक कि - सब आगे बढ़े और सबके साथ हम भी ! आप भी अगर कुछ अच्छा लिखते हैं, तो जुड़ जाईये न हमारे साथ ... मिलकर कुछ अच्छा करते हैं ...! संपर्क सूत्र : contact@vicharkranti.com जय विचारक्रांति !

Subscribe to our Newsletter

हमारे सभी special article को सबसे पहले पाने के लिए न्यूजलेटर को subscribe करके आप हमसे फ्री में जुड़ सकते हैं । subscription confirm होते ही आप नए पेज पर redirect हो जाएंगे । E-mail ID नीचे दर्ज कीजिए..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

VicharKranti Student Portal

छात्रों के लिए कुछ positive करने का हमारा प्रयास | इस वेबसाईट का एक हिस्सा जहां आपको मिलेंगी पढ़ाई लिखाई से संबंधित चीजें ..

कुछ नए पोस्ट्स

amazon affiliate link

पढिए अच्छी किताबों में
सफलता के सीक्रेट