Homeकरियर(Career)Education Loan Hindi | एजुकेशन लोन की पूरी जानकारी

Education Loan Hindi | एजुकेशन लोन की पूरी जानकारी

उच्च शिक्षा हमारे जीवन में हमारे लिए स्वर्णिम भविष्य का द्वार खोलती है । ऐसे में अधिकतर विद्यार्थी अपनी प्राथमिक शिक्षा पूर्ण करने के पश्चात् अपने उज्ज्वल भविष्य निर्माण हेतु उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहता है। परंतु धन की कमी छात्रों के स्वर्णिम भविष्य निर्माण में सबसे बड़ी बाधा है जिस कारण अधिकांश छात्रों को अपने सपने से दूर होना पड़ता है । ऐसे में भारत सरकार बैंकों के माध्यम से उपलब्ध करवाती है शिक्षा ऋण (Education Loan )

जिसके माध्यम से गरीब लेकिन प्रतिभावान छात्र अपना बेहतर भविष्य निर्माण कर सकते हैं ।  एजुकेशन लोन तमाम छात्रों के सपनों को पूरा करने में सक्षम है।आगे हिन्दी में जानते हैं एजुकेशन लोन(Education Loan Hindi) से संबंधित विभिन्न तथ्यों को –

क्या है शिक्षा ऋण (Education Loan) 

एजुकेशन लोन जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है -शिक्षा प्राप्ति हेतु दिए जाने वाला एक ऋण है । यह ऋण (loan) भारतीय विद्यार्थियों को उनके उच्च शिक्षा प्राप्ति के लक्ष्य को पूरा करने के लिए दिया जाता है।

एजुकेशन लोन से अभिप्राय यह है कि सेकंडरी कक्षाओं के बाद या उच्च शिक्षा ग्रहण करने में जो खर्च आता है, उसके लिए धन की व्यवस्था इस लोन के माध्यम से बैंक द्वारा किया जाता है ।

एजुकेशन लोन देश के मान्यताप्राप्त  मुख्य शिक्षण संस्थानों से नियमित शिक्षा प्राप्त करने हेतु , पुनर्भुगतान अवकाश/ मोरिटोरियम की सुविधा के साथ दिया जाता  है। 

सरकारी या निजी बैंक से शिक्षा ऋण  

एजुकेशन लोन सरकारी बैंकों के अलावा निजी क्षेत्र के बैंकों से भी प्राप्त किया जा सकता है । सरकारी बैंक प्रायः प्रतिष्ठित संस्थानों में अध्ययन हेतु ही शिक्षा ऋण मुहैया करते हैं जबकि प्राइवेट बैंक निजी संस्थानों से भी अध्ययन करने हेतु यह सुविधा प्रदान करता है । निजी बैंकों की तुलना में सरकारी बैंकों से शिक्षा ऋण आसान शर्तों और कम ब्याज दरों पर प्राप्त किया जा सकता है…  

कौन ले सकता है एजुकेशन लोन

एजुकेशन लोन पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में सहायता प्रदान करने के  उद्देश्य से दिया जाता है। इसके अन्तर्गत स्वयं छात्र अथवा उनके माता-पिता तथा बड़े भाई-बहन भी ऋण प्राप्तकर्ता बन सकते है। 

एजुकेशन लोन के लिए आवश्यक योग्यता

  1. एजुकेशन लोन के आवदेन करने वाले विद्यार्थी के लिए भारत का नागरिक होना आवश्यक है।
  2. UGC/AICTE/Govt द्वारा मान्यताप्राप्त शिक्षण संस्थाओं में डिग्री/डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाला हो। 
  3. उम्र 18 से 35 वर्ष के बीच हो । (रिजर्व बैंक द्वारा एजुकेशन लोन के लिए उम्र की अधिकतम सीमा निश्चित नहीं है परंतु भारत के कुछ बैंकों द्वारा लोन प्रदान करने के लिए उम्र की सीमा तय की गई है।)
  4. आवेदक ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट अथवा पीजी डिप्लोमा कोर्स में दाखिला ले रहा हो ।
  5. इसके अतिरिक्त भारत या विदेश के जिस भी मान्यता प्राप्त  शिक्षण संस्थान में प्रवेश लेना चाहता हो, वहां की प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण हो चुका हो तथा उसे वहां प्रवेश मिलना तय हो … ।

एजुकेशन लोन के लिए दस्तावेज

एजुकेशन लोन के लिए निम्नलिखित दस्तावेज(Documents for Education Loan) आपको बैंक को उपलब्ध करवाना होता है । जिसकी संवीक्षा के पश्चात आपको एजुकेशन लोन मिलता है ।

  • शिक्षा ऋण हेतु भरा हुआ आवेदन 
  • 2 पासपोर्ट साइज़ फोटो ग्राफ 
  • आवेदक के 12 वीं के अंक प्रमाण पत्र 
  • कोर्स पूरा करने में आने वाले विभिन्न खर्च का आकलन 
  • छात्र और माता पिता या अभिभावक का आधार और पैन कार्ड 
  • आवेदक के अंतिम 6 माह का बैंक स्टेटमेंट, 
  • छात्रवृत्तिके कागजात
  • आवेदक के माता-पिता के पिछले 2 वर्षों का आइटीआर प्रमाण पत्र (खासकर बड़े लोन के लिए )

 इसके अतिरिक्त जिस बैंक से आप लोन लेने के इच्छुक हैं वहां आपका (आवेदक) का खाता है तो अच्छा है यदि उस बैंक में खाता(bank account) नहीं है तो वहां पहचान प्रमाण पत्र(Identity Card) तथा निवास प्रमाण पत्र देना आवश्यक होता है।

आगे चलते हैं और जानते हैं एजुकेशन लोन प्राप्त करने की प्रक्रिया के बारे में … । 

एजुकेशन लोन प्राप्त करने की प्रक्रिया

ऊपर बताए गए सभी पात्रता को पूर्ण करने वाले आवेदक संबंधित दस्तावेज को जिस बैंक से लोन लेना चाहते है वहां जमा करवाके बैंक द्वारा पात्रता सुनिश्चित होने के उपरांत इस लोन को प्राप्त कर सकता है । 

आप जिस बैंक से लोन लेने को इच्छुक हैं वहां यदि आपका खाता है तो इससे लोन लेने में सुविधा होगी । 

एजुकेशन लोन की व्यवस्था अथवा प्रक्रिया प्रत्येक बैंक में थोड़ा बहुत भिन्न होती है। इसलिए एजुकेशन लोन लेने से पहले संबंधित बैंक के ब्याज दर, पुनर्भुगतान की अवधि इत्यादि के विषय में जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए। उदाहरण स्वरूप SBI से संबंधित कुछ तथ्यों को हमने आगे प्रस्तुत किया है ।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया – यदि आप एसबीआई से शिक्षा ऋण लेना चाहते हैं तो आपका खाता एसबीआई में होना आवश्यक है।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से अधिकतम 20 लाख तक का लोन प्राप्त किया जा सकता है। विदेशों में अध्ययन हेतु लगभग 1.5 करोड़ तक के लोन भी लिए जा सकते हैं लेकिन सामान्य (20 लाख)  से अधिक के ऋण पर शर्ते और ब्याज दर दस्तावेज आदि की प्रक्रिया थोड़ी अलग है । 

अमूमन एसबीआई एजुकेशन लोन पर औसतन 8.85 से 11.4 फीसदी(जो समय समय पर बदलता रहता है ) के अनुसार ब्याज देना पड़ता है। लोन चुकाने हेतु अमूमन 5 से 7 वर्ष या कुछ स्थितियों (Big Loan ) में 15 वर्ष तक का समय दिया जाता है । 

 एजुकेशन लोन का महत्व

एजुकेशन लोन(Education Loan) प्रतिभावान छात्रों को देश या विदेश के प्रतिष्ठित मान्यता प्राप्त उच्च शिक्षण संस्थान से अपनी शिक्षा समाप्त कर उज्ज्वल भविष्य निर्माण का सुनहरा अवसर प्रदान करता है ।

इस लोन में शिक्षा के अलावा शिक्षा से संबंधित अन्य खर्चों यथा – हॉस्टल फीस , लाइब्रेरी और प्रयोगशाला की फीस ,शिक्षा संबंधी पर्यटन ,कंप्यूटर इत्यादि साधन खरीदने के लिए भी धन मुहैया कारवाई जाती है।

शिक्षा ऋण आर्थिक रूप से कमजोर परिवार से संबंध रखने वाले विद्यार्थियों के लिए शिक्षा प्राप्ति का महत्वपूर्ण साधन है।

शिक्षा ऋण (Education Loan) के प्रकार 

एजुकेशन लोन चार प्रकार से दिया जाता है।

#1

पहला अंडरग्रैजुएट एजुकेशन लोन, ग्रेजुएशन करने की इच्छुक विद्यार्थी इस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

#2 दूसरा ग्रेजुएट एजुकेशन लोन, उच्च शिक्षा प्राप्ति के लिए विद्यार्थी इस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं परंतु उन्हें स्नातक अथवा ग्रेजुएट होना आवश्यक है।

#3तीसरा करियर एजुकेशन लोन, यह लोन करियर ओरिएंटेड प्रोग्राम के लिए दिए जाते हैं।

#4 चौथा पेरेंट्स के लिए लोन, यह लोन उन अभिभावकों को दिया जाता है जो अपने बच्चें को शिक्षा देने में असमर्थ हैं। इसके अतिरिक्त ऐसे भी अभिभावक जो अपने बच्चों को विदेश में पढ़ाना चाहते हैं अथवा उच्च शिक्षा देना चाहते हैं। बैंक द्वारा उन्हें पेरेंट्स लोन के तहत एजुकेशन लोन दिया है। एजुकेशन लोन शिक्षा में उन्नति हेतु उचित कदम के रूप में सिद्ध है।

एजुकेशन लोन से संबंधित विशेष तथ्य

आइए आर्टिकल को समाप्त करने से पहले जानते हैं एजुकेशन लोन से संबंधित कुछ विशेष बातों को जो आपको एजुकेशन लोन लेना है या नहीं इसके निर्धारण में आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होंगी ।

  • एजुकेशन लोन जैसा कि समझा जाता है बिल्कुल फ्री नहीं है । हां लोन के इस प्रकार में आपको आपकी शिक्षा समाप्ति के लगभग 1 साल तक पुनर्भुगतान हेतु अवकाश दिया जाता है । मोरेटोरियम की सुविधा प्रदान की जाती है लेकिन ब्याज तो वार्षिक स्तर पर बढ़ता जाता है और अंत में आपको मूलधन को बढ़े हुए ब्याज के साथ चुकाना पड़ता है ।
  • 4 लाख तक का एजुकेशन लोन प्राप्त करने के लिए आपको किसी भी प्रकार के थर्ड पार्टी गारंटर  की जरूरत अथवा माता-पिता के  सह-दायित्व की जरूरत  नहीं पड़ती है । कुछ भी को लैटरल नहीं रखना पड़ता । 
  • पुनर्भुगतान की शुरुआत नौकरी लगने के 6 महीने बाद या शिक्षा समाप्त होने के 1 साल बाद हो जाती है इनमें से जो स्थिति पहले आती है उसी को आधार माना जाता है । 
  • एजुकेशन लोन के पुनर्भुगतान पर आपको आयकर अधिनियम की धारा 80-ई के तहत बैंक द्वारा लिए जाने वाले ब्याज पर टैक्स में छूट प्राप्त होती है। इस छूट को आप क्लैम शुरू करने से लेकर 8 सालों तक प्राप्त कर सकते हैं  

वैसे तो किसी भी प्रकार के लोन लेने को कुछ विशेषज्ञ अच्छा नहीं मानते ,लेकिन सभी ऋणों में शिक्षा के लिए लिया गया ऋण जिसकी महत्ता का आपको ज्ञान हो और जागरूक होकर आप जिसका समुचित उपयोग कर पाएं … निश्चित ही जीवन में उपयोगी हो सकता है । जैसे जैसे शिक्षा महंगी होती जा रही है … बड़े संस्थानों में पढ़ने के लिए धन की कमी एक सामान्य सी बात बनती जा रही है ।

ऐसे में अपने skills और अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए खुद पर किया गया निवेश एक अच्छा निवेश , एक अच्छा कदम माना जा सकता है ।


इति

हमें पूरा विश्वास है कि Education Loan से संबंधित हमारा यह लेख आपको पसंद आया होगा । लेख में आवश्यक संसोधन हेतु सुझाव अथवा लेख के प्रति अपने विचार हम तक पहुंचाने के लिए कृपया नीचे कॉमेंट बॉक्स में अपने विचारों को जरूर लिखें । इस लेख को अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल्स पर शेयर भी करे क्योंकि Sharing is Caring !

बने रहिये Vichar Kranti.Com के साथ । अपना बहुमूल्य समय देकर लेख पढ़ने के लिए आभार ! आने वाला समय आपके जीवन में शुभ हो ! फिर मुलाकात होगी किसी नए आर्टिकल में ..

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो आपको हमारा फेसबुक पेज जरुर पसंद आएगा…! हमसे जुड़ने के लिए इस लिंक >> विचारक्रांति फेसबुक पेज << पर क्लिक करके आप हमसे Facebook पर जुड़ सकतें हैं

निवेदन : – हमें अपनी टीम में ऐसे लोगों की जरूरत है जो हिन्दी में अच्छा लिख सकते हों । यदि आप हमारी टीम में एक कंटेन्ट राइटर के रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आगे दिए गए ईमेल पते पर मेल कीजिए । प्रत्येक लेख और आपकी लेखन क्षमता के हिसाब से उचित राशि प्रदान की जाएगी ।


इसके अलावा यदि कोई धनराशि प्राप्त किए बिना, आप हिंदी में कुछ मोटिवेशनल अथवा अन्य आर्टिकल लिख कर हमारा सहयोग करना चाहते हैं तो भी आपका स्वागत है ! लिख भेजिए अपने फोटो के साथ हमारे Email पते पर । हम उसे समीक्षा के पश्चात आपके नाम से प्रकाशित कर देंगे । हमसे जुड़ने के लिए संपर्क कीजिये Email :contact@vicharkranti.com

kundan
कुंदन भारत के एक उच्च तकनीकी संस्थान में अध्ययनरत हैं । इन्हें ,टेक्नोलॉजी और फायनेंसिल चीजों के बारे में जानकारियां जुटाना और उन्हें लोगों के साथ सांझा करना अच्छा लगता है । हमारे आग्रह को स्वीकार करते हुए इन्होंने वित संबंधी विषयों पर विचारक्रांति टीम के साथ जुड़ कर, लिखने का निमंत्रण स्वीकार किया है ।

इस पोस्ट पर अपनी प्रतिक्रिया,अपनी बातें यहां नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर हम तक जरूर भेजिए.सभी नए पोस्ट के ईमेल नोटिफिकेशन पाने के लिए नीचे चेकबॉक्स को टिक करिये. धन्यवाद...!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

कुछ नए पोस्ट्स

संबद्ध लिंक अमेजन -

पढिए अच्छी किताबों मे
सफलता के सीक्रेट

Vichar-Kranti

पढ़िए जीवन बदलने वाले Ideas,महापुरुषों के प्रेरक वचन,जीवनी, करियर के विकल्प और भी बहुत कुछ...जुड़िये विचारक्रांति से

error: Content is protected !!