Home सामान्य ज्ञान TRP क्या है और टीवी के लिए कैसे महत्वपूर्ण है ?

TRP क्या है और टीवी के लिए कैसे महत्वपूर्ण है ?

आजकल जिस तरह से टीआरपी से जुड़े मुद्दे सामने आ रहे हैं । खास कर जब से एक राज्यविशेष  की पुलिस ने यह दावा किया है कि उन्होंने फाल्स टीआरपी के रैकेट का भांडा फोड़ किया है । तो हमें लगा कि हमारे भी कुछ पाठक जानना चाहते होंगे कि TRP क्या है? लीक से हटकर यह पोस्ट विशेष रूप से मेरे ऐसे ही मित्रों के लिए है, जो जानना चाहते हैं कि आखिर टीआरपी किस चिड़ियां का नाम है ? इसका मतलब होता क्या है ?

क्या होता है टीआरपी ?

TRP का पूरा नाम होता है Television Rating Point । इस रेटिंग पॉइंट के आधार पर यह पता चलता है कि किस टेलिविज़न चैनल को सबसे अधिक देखा जा रहा है । जिस टेलिविज़न चैनल को देखा जा रहा है उसके किस प्रोग्राम, किस कार्यक्रम को सबसे अधिक देखा जा रहा  है । 

यानि अगर एक लाइन में कहें तो टीआरपी किसी भी टीवी चैनल या टीवी प्रोग्राम की लोकप्रियता को दर्शाने वाला एक सूचकांक है ।  इस रेटिंग को अभी आधिकारिक रूप से बार्क द्वारा जारी किया जाता है ।

बार्क(BARC)क्या है

Trai की सिफारिश पर सूचना प्रसारण मंत्रालय ने टेलीविजन उद्योग के प्रमुख प्रतिनिधियों के नेतृत्व में टीवी कार्यक्रमों के नियमन (regulation )हेतु एक स्व-नियमित संस्था (self regulated body) की स्थापना को हरी झंडी दी । फलस्वरूप जुलाई 2010 में BARC का गठन हुआ । 

Full form of BARC is Broadcast Audience Research Council India- बार्क का पूरा नाम ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च कौंसिल इंडिया है ।

वर्ष 2014 में भारत सरकार ने टेलिविज़न की रेटिंग को निर्धारित करने वाली संस्थाओं के लिए जो मानदंड और नीति नियम तय किए ,उसके बाद बार्क(BARC) अभी भारत में एक मात्र संस्था है जो टेलिविज़न रेटिंग पॉइंट जारी करती है । 

टीआरपी कैसे मापी जाती है ?

TRP मापने के लिए एक उपकरण जिसे पीपल मीटर (people meter) कहा जाता है, को कुछ चुनिंदा जगहों पर लगाया जाता है । BARC आपके टीवी प्रोग्राम में ऑडियो की वाटर मार्किंग करता है । इन watermarked audio की आवृति (frequency) के कारण सामान्य दर्शक इसे नहीं सुन सकते लेकिन people meter इसे रिकार्ड कर लेता है और रिकॉर्ड किए गए आंकड़ों/सैम्प्ल्स को आगे अपने निगरानी केंद्र(Monitoring Agency) तक भेज देता है । 

भारत में फिलहाल दो मॉनिटरिंग एजेंसी है :-
पहला INTAM (Indian Television Audience Measurement) और दूसरा DART (Doordarshan Audience Research TV Ratings)

इसके अलावा इस संस्था(बार्क) ने कुछ डीटीएच ऑपरेटर से भी अनुबंध कर रखा है जिससे उन ऑपरेटरस के  द्वारा उपलब्ध करवायी जाने वाले डाटा (RPD) को भी अपने विश्लेषण में शामिल कर सके । चूंकि डाटा पॉइंट जितना बढ़ेगा , सर्वे की प्रामाणिकता भी उतनी ही बढ़ेगी । 

 एक अनुमान के मुताबिक वर्तमान ( वर्ष 2020 ) में  BARC (Broadcast Audience Research Council of India) के पास अभी लगभग 44,000 (चौवालीस हजार ) मीटर होम (घर जहां people meter लगा हुआ हो ) हैं । जिसे वह और बढ़ाना चाहता है, जिससे उसके द्वारा उपलब्ध की जाने वाली डाटा की प्रामाणिकता बढ़े ।  

टीवी चैनल के लिए क्यों महत्वपूर्ण है टीआरपी ?

बीएआरसी(BARC) के मुताबिक भारतीय टीवी जगत का विज्ञापन उद्योग 32000 करोड़ का है । जितने भी टीवी चैनल हैं, उनकी आमदनी का मुख्य स्त्रोत यही विज्ञापन हैं । हम आप जब भी कोई टीवी प्रोग्राम देखेते हैं तो वहां हरेक कुछ मिनट में विज्ञापन आता ही आता है । 

विज्ञापन जगत में ये एक स्थापित सत्य है कि जिस चैनल या टीवी प्रोग्राम  की टीआरपी जितनी अधिक होगी उसको प्रति सेकंड विज्ञापन दिखाने का उतना अधिक पैसा मिलेगा । यानि यदि टीआरपी कम तो आमदनी कम और टीआरपी ज्यादा को आमदनी और मुनाफा भी उसी हिसाब से ज्यादा । 

यही वो मुख्य कारण है जिससे कि सारे टीवी नेटवर्क अपनी टीआरपी कैसे बढ़ाएं को लेकर एड़ी-चोटी का जोर लगा देते हैं । कई बार सिर्फ इसलिए कि उनको ज्यादा दर्शक मिले अधिक viewership मिले वो नैतिकता से दूर होकर भ्रामक कार्यक्रमों  को भी दिखाने में पीछे नहीं रहते हैं। 

इस लेख के माध्यम से हम उनसे यही प्रार्थना कर सकते हैं कि मीडिया लोकतंत्र का चौथा और भरोसेमंद स्तम्भ है । इसलिए सिर्फ पैसा कमाने के लिए अनैतिक कार्य नहीं करें । अपने खबर और कार्यक्रमों को इस प्रकार बनाए जिससे सच की आस में कोई टूट न हो और समाज में कोई फुट न हो ।

वैसे इस विशाल संसार में हमारी उपस्थिति न के बराबर ही सही ,लेकिन हम विचारक्रांति परिवार के अपने सदस्यों और मित्रों के लिए सकारात्मक तथा तथ्यपूर्ण सूचनाएं उबलब्ध करवाने का प्रयास करते रहेंगे ।

मुझे विश्वास है आपके लिए यह संक्षिप्त पोस्ट(TRP क्या है) जानकारियों से भरा और सारगर्भित रहा होगा । इस पोस्ट के बारे में अपने विचार हम तक जरूर लिख भेजिए । इस लेख को अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल्स पर शेयर भी करे क्योंकि Sharing is Caring !

बने रहिये Vichar Kranti.Com के साथ । अपना बहुमूल्य समय देकर लेख पढ़ने के लिए आभार ! आने वाला समय आपके जीवन में शुभ हो ! फिर मुलाकात होगी किसी नए आर्टिकल में .

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो आपको हमारा फेसबुक पेज जरुर पसंद आएगा…! हमसे जुड़ने के लिए इस लिंक >> विचारक्रांति फेसबुक पेज << पर क्लिक करके आप हमसे Facebook पर जुड़ सकतें हैं

निवेदन : – हमें अपनी टीम में ऐसे लोगों की जरूरत है जो हिन्दी में अच्छा लिख सकते हों । यदि आप हमारी टीम में एक कंटेन्ट राइटर के रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आगे दिए गए ईमेल पते पर मेल कीजिए । प्रत्येक लेख और आपकी लेखन क्षमता के हिसाब से उचित राशि प्रदान की जाएगी ।


इसके अलावा यदि कोई धनराशि प्राप्त किए बिना, आप हिंदी में कुछ मोटिवेशनल अथवा अन्य आर्टिकल लिख कर हमारा सहयोग करना चाहते हैं तो भी आपका स्वागत है ! लिख भेजिए अपने फोटो के साथ हमारे Email पते पर । हम उसे समीक्षा के पश्चात आपके नाम से प्रकाशित कर देंगे । हमसे जुड़ने के लिए संपर्क कीजिये Email :contact@vicharkranti.com

संदर्भ :
विकिपिडिया ट्राई और बार्क की वेबसाईट

Vichar Kranti
विचारक्रांति टीम (Vichar-Kranti.Com) - चंद उत्साही लोगों की टीम जो आप तक पहुंचाना चाहते हैं सही और जीवनोपयोगी सूचनाओं के साथ जीवन बदलने वाले सकारात्मक विचारपुंजों को । उदेश्य सिर्फ एक कि - सब आगे बढ़े और सबके साथ हम भी ! आप भी अगर कुछ अच्छा लिखते हैं, तो जुड़ जाईये न हमारे साथ ... मिलकर कुछ अच्छा करते हैं ...! संपर्क सूत्र : contact@vicharkranti.com जय विचारक्रांति !

2 COMMENTS

    • टेलिविज़न रेटिंग पॉइंट के बारे में यह जानकारी आपको उपयोगी लगी यह जानकार हमें प्रसन्नता हुई । सुंदर शब्दों में हमारा उत्साह बढ़ाने के लिए आपको विचारक्रांति टीम की ओर से धन्यवाद !

इस पोस्ट पर अपनी प्रतिक्रिया,अपनी बातें यहां नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर हम तक जरूर भेजिए.सभी नए पोस्ट के ईमेल नोटिफिकेशन पाने के लिए नीचे चेकबॉक्स को टिक करिये. धन्यवाद...!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

कुछ नए पोस्ट्स

संबद्ध लिंक अमेजन -

पढिए अच्छी किताबों मे
सफलता के सीक्रेट

Vichar-Kranti

पढ़िए जीवन बदलने वाले Ideas,महापुरुषों के प्रेरक वचन,जीवनी, करियर के विकल्प और भी बहुत कुछ...जुड़िये विचारक्रांति से

error: Content is protected !!