Homeकरियर(Career)विश्व के कठिनतम कोर्स | Toughest Courses in the World

विश्व के कठिनतम कोर्स | Toughest Courses in the World

ad-

इस लेख में हम बात करने वाले हैं दुनिया के कुछ कठिनतम कोर्स Toughest Courses in the World के बारे में जिसे करना अपने आप में थोड़ा कठिन और महंगा तो है लेकिन इन क्षेत्रों में की गई पढ़ाई आपको एक अच्छा करियर विकल्प की प्रायः गारंटी देता है ।

आजकल प्रत्येक विद्यार्थी अपने करियर को संवारने के लिए किसी ऐसे कोर्स का चयन करना चाहता है, जिसके बाद उसका भविष्य सुरक्षित हो जाए। वर्तमान में प्रतियोगिता का स्तर इतना बढ़ चुका है कि एक अच्छा करियर विकल्प बना पाना वो बिना विशेषज्ञता प्राप्त किए प्रायः नामुमकिन सा हो गया है ।

Advertisements

ऐसे में विद्यार्थियों को एक सुरक्षित और सफल करियर निर्माण के लिए अधिक मेहनत तथा प्रयास करना पड़ रहा है। आईए जानते है कुछ प्रमुख कोर्स एवं करियर क्षेत्र के बारे में जिन क्षेत्रों की पढ़ाई आपके लिए स्वर्णिम करियर पाने की राह में मील का पत्थर साबित होगी ।

आइए जानते हैं, विश्व के इन टॉप 10 कठिनतम कोर्स के विषय में….

Toughest Courses in the World

मेडिकल साइंस कोर्सेज

12वीं कक्षा साइंस (PCB) सब्जेक्ट से पास करने वाले विद्यार्थियों को यदि मेडिकल क्षेत्र में रुचि है। तो वह मेडिकल साइंस में भी अपना बेहतरीन करियर बना सकते हैं। मेडिकल साइंस के कोर्सेज बारहवीं कक्षा के बाद ही शुरू हो जाते हैं। 

मेडिकल साइंस क्षेत्र में में ग्रेजुएशन लेवल के कोर्सेज, डिप्लोमा कोर्स और हाई लेवल मेडिकल कोर्सेज भी मौजूद हैं। अंडरग्रैजुएट कोर्सेज में पांच वर्ष का एमबीबीएस कोर्स भी बेहद शानदार है। पोस्टग्रेजुएशन में एमडी जैसे कोर्स भी किया जा सकता है।

मेडिकल साइंस एक ऐसा क्षेत्र है,  जिसकी आवश्यकता सदैव रहेगी ।  ऐसे में अगर आप मेडिकल साइंस की पढ़ाई आपको एक सुरक्षित करियर का विकल्प दे सकता है ।  हालांकि इसमें आपको कड़ी मेहनत की जरूरत है साथ ही इन कोर्सेज में खर्चा भी अधिक होता है, लेकिन यह आपके करियर के लिहाज से ये बेहद सुरक्षित कोर्स हैं।

toughest course in the world for better career
toughest course for better career

फॉर्मेसी कोर्स

फार्मेसी कोर्सेज ऐसे कोर्सेज हैं जिन्हें करने के बाद आपके सामने करियर के कई विकल्प खुल जाते हैं। हालांकि अधिकतर लोगों को यह लगता है कि फार्मेसी करने के बाद बस आप एक मेडिकल ही खोल सकते हैं। लेकिन आपको बता दें फार्मेसी कोर्स करने के बाद आप अपना खुद का बिजनेस  करने के साथ ही हॉस्पिटल फार्मेसी, रिसर्च एजेंसी, मेडिकल डिस्प्लेसिंग स्टोर आदि में काम कर सकते हैं । 

फार्मेसी कोर्सेज करने के लिए विद्यार्थी का 12वीं कक्षा में मैथ्स, कैमिस्ट्री, बायोलॉजी विषयों का होना आवश्यक है।

इंजीनियरिंग कोर्सेज

toughest courses in the world में आगे जानते हैं इंजीनियरिंग क्षेत्र के बारे में । जो लोग तकनीकी क्षेत्रों में रुचि रखते है,, वे बारहवीं कक्षा के बाद इंजीनियरिंग कोर्स कर सकते हैं। इंजीनियरिंग के अन्तर्गत विभिन्न ट्रेड की पढ़ाई होती हैं जैसे – मैकेनिकल इंजीनियरिंग,इलेक्ट्रानिक्स इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग,सिविल इंजीनियरिंग कंप्यूटर इंजीनियर, सॉफ्टवेयर इंजीनियर, ऊर्जा इंजीनियरिंग,, हाइड्रोलिक इंजीनियरिंग, कृषि इंजीनियरिंग, टेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग आदि। 

Advertisements

इसके अतिरिक्त बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग, बीसीए इत्यादि ग्रेजुएशन की श्रेणी में आने वाले इंजीनियरिंग से जुड़े हुए कोर्सेज भी कर सकते हैं। इंजीनियरिंग के डिप्लोमा कोर्सेज एवं आईटीआई की पढ़ाई 10 वीं कक्षा के बाद ही किए जा सकते हैं। इस प्रकार आप कम उम्र ही इस कोर्स को शुरू करके अपना भविष्य को सही दिशा दे सकते हैं।

चार्टेड अकाउन्टन्सी

वाणिज्य विषय से जुड़े विद्यार्थी चार्टर्ड अकाउंट का कोर्स कर सकते हैं। वर्तमान समय में चार्टर्ड अकाउंट की मान्यता और डिमांड सर्वाधिक है। चार्टर्ड अकाउंट बनने के लिए आप बारहवीं कक्षा के बाद ही तैयारियां शुरू कर सकते हैं। 

इसके अलावा ग्रेजुएशन करने के बाद यदि आप चार्टर्ड अकाउंट का कोर्स करते हैं। तो आपको सीए बनने के लिए 3 वर्ष का समय लगेगा। चार्टर्ड अकाउंट बनने के लिए आपको पढ़ाई में अधिक मेहनत तो अवश्य ही करनी पड़ती है। लेकिन यदि आप सफलता पूर्वक यह की डिग्री प्राप्त कर लेते है और आपके नाम के आगे सीए लग जाता है तो आप एक सुरक्षित करियर के हकदार हो जाते हैं। 

आर्किटेक्चर

toughest courses in the world में आगे जानते हैं आर्किटेक्चर के बारे में । आर्किटेक्चर यानि कि वास्तुकला का इतिहास काफी पुराना है। किसी भी बिल्डिंग मकान आदि के निर्माण के आर्किटेक्ट  की जरूरत पड़ती है। आर्किटेक्चर का कोर्स करने के लिए आपका 12वीं कक्षा में गणित तथा अंग्रेजी विषय का होना अनिवार्य है। 

एक आर्किटेक्ट  बनने के लिए आपको बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर और मास्टर ऑफ आर्किटेक्चर के कोर्स और डिग्री करनी होगी । इन डिग्रियों के अलावा आपको कुछ स्पेशल सॉफ्टवेयर कोर्सेज भी करने पड़ेंगे। तब जाकर आप एक कुशल आर्किटेक्चर बन पाएंगे। 

विभिन्न मूर्तियों से लेकर स्मारक और बड़ी-बड़ी कंपनियों की बिल्डिंग निर्माण आदि में आर्किटेक्ट  की भूमिका अहम रहती है। कोर्स कठिन होने के बावजूद यह अपने आप में एक सफल करियर की गारंटी है । यदि आप एक कुशल आर्किटेक्ट   बनते हैं, तो आप अपने भविष्य में लाखों-करोड़ों रुपया कमा सकते हैं।

लॉ कोर्सेज

वकालत भी हमारे देश और दुनिया के पुरानी कोर्स में से एक है । जब तक इंसान है विवाद भी प्रायः होते ही रहेंगे और बनी रहेगी वकीलों की भूमिका भी । ऐसे मे एक विद्यार्थी के रूप में आप  लॉ यानि कानून से जुड़े कोर्सेज भी करते हैं। कानून के कोर्स  में आपको काफी लगन तथा मेहनत से पढ़ाई करनी होती है। 

लॉ से जुड़े कोर्सेस करने के लिए विद्यार्थी का 12वीं कक्षा पास होना अनिवार्य है। Law courses करने के लिए आप 12वीं कक्षा में किसी भी सब्जेक्ट को चुन सकते हैं।

मनोविज्ञान कोर्सेज

मनोविज्ञान से जुड़े कोर्सेज करके आप एक मनोवैज्ञानिक (psychologist) बन सकते है । आजकल के समय में psychologist की भूमिका समाज और कॉर्पोरेट दुनियाँ में काफी बढ़ गई है। ऐसे में यदि आप अपने करियर को सुनहरा बनाना चाहते हैं तो मनोविज्ञान से जुड़े कोर्स इसको भी कर सकते हैं।

एक मनोवैज्ञानिक बनने के लिए आपको सबसे पहले साइकोलॉजी की बैचलर डिग्री प्राप्त करनी होगी। इसके अलावा आप अच्छे कॉलेज से डिप्लोमा कोर्सेज भी कर सकते हैं। आप मनोविज्ञान विषय में उच्चतर शिक्षा/ पीएचडी कर के भी अपना कैरियर को और बेहतर बना सकते हैं। 

इसके बाद आप किसी भी प्राइवेट और सरकारी विद्यालय तथा विश्वविद्यालय में मनोवैज्ञानिक प्रोफेसर के रूप में नियुक्त हो सकते हैं। वहीं विभिन्न मार्केट रिसर्च कंपनियों में भी आपके रोजगार की संभावनाएं रहती हैं । consultation का विकल्प तो आपके पास रहेगा ही !

क्वांटम मैकेनिक्स कोर्स

यदि आपको रिसर्च में काफी रूचि है और अणु परमाणु में जिज्ञासा तो आप फिज़िक्स के क्वांटम मकैनिक्स सहित अन्य किसी भी रुचि के टॉपिक पर होने वाले विभिन्न प्रकार की खोज में हिस्सा ले सकते हैं । आपके लिए क्वांटम मैकेनिक्स कोर्स बेहद बेहतरीन रहेंगे। 

आप इससे जुड़े कोर्सेज को करके किसी एकेडमिक में पढ़ा  भी सकते हैं। क्वांटम मैकेनिक्स, क्वांटम फिजिक्स से जुड़ा हुआ है । इससे जुड़े कोर्स करने के लिए आपको एक अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेना जरूरी होगा। जिसके लिए आपको फिजिक्स में एमएससी करना अनिवार्य है। आप इस क्षेत्र में अधिक पढ़ाई करने के विदेश के कॉलेजों में भी एडमिशन ले सकते हैं।

बिजनेस मैनेजमेंट कोर्सेज

दुनियाभर में बिजनेस मैनेजमेंट के कोर्सेज काफी प्रचलित है। बिजनेस इंडस्ट्री में बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए इससे संबंधित कोर्सेज किए जाते हैं। आप 12 वीं के बाद ही बिजनेस मैनेजमेंट कोर्सेज कर सकते हैं। इसके अन्तर्गत बीबीए  तथा एमबीए  की डिग्री स्तर के भी कोर्सेज होते हैं। इसके अलावा बिजनेस मैनेजमेंट में अन्य कोर्स भी आप कर सकते हैं । 

होटल मैनेजमेंट

एक अच्छे कॉलेज से होटल मैनेजमेंट कोर्स करने के बाद दुनियाभर में कहीं भी होटल मैनेजमेंट के अलग अलग स्तरों  पर काम करने में सक्षम हो सकते हैं। इसे आप बारहवीं कक्षा के बाद ही शुरू कर सकते हैं। 

12 वीं कक्षा किसी भी सब्जेक्ट से पास करने कर बाद आप इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। यह कोर्स करने के बाद आपको रोजगार की तलाश में अधिक भटकना नहीं पड़ेगा। आपको रोजगार की वृहत संभावनाओं के साथ ही लोगों से मिलने जुलने एवं उनके खान-पान के साथ ही विभिन्न संस्कृतियों को जानने का मौका मिलेगा । 

इसके अलावा अधिकतर भारतीय विद्यार्थियों का यह सपना होता है कि वे विदेश में जाकर अपने मनपसंद कोर्स की पढ़ाई करें। तो इसके किए उन्हें कुछ विदेशी संस्थानों के टेस्ट से गुजरना पड़ता है। यह टेस्ट इंग्लिश लैंग्वेज सिस्टम, इंग्लिश प्रोफिशिएंसी टेस्ट इत्यादि विषयों से संबंधित होते हैं। 

विदेशों में पढ़ाई हेतु प्रमुख कोर्स

विदेश में पढ़ाई करने के लिए आपको कुछ निम्नलिखित कठिनतम टेस्ट में पास होना पड़ता है – 

  • इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्टिंग सिस्टम (IELTS)
  • टीओएफईएल (TOFEL)
  • ग्रेजुएशन रिकॉर्ड एग्जामिनेशन (GRE)
  • ग्रेजुएट मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट (GMAT)
  • स्कॉलैस्टिक असेसमेंट टेस्ट (SAT)
  • पियर्सन टेस्ट ऑफ इंग्लिश (PTE)
  • लॉ स्कूल एडमिशन टेस्ट (LSAT)
  • कंप्यूटर एडेड इंजीनियरिंग टेस्ट (CAE)

उम्मीद करते हैं आपकी जानकारी और आपके ज्ञान में इस लेख hardest courses in the world से कुछ बढ़ोतरी हुई होगी । साथ ही उपरोक्त लेख के माध्यम से टॉप कोर्सेज के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई होगी।

इस लेख पर अपने विचार एवं आवश्यक संसोधन हेतु सुझाव नीचे कमेन्ट बॉक्स में लिख कर जरूर भेजें । इस लेख को उन दोस्तों तक जरूर शेयर करें जिन्हें इस से कुछ भी लाभ हो सकता है । 

बने रहिये Vichar Kranti.Com के साथ । अपना बहुमूल्य समय देकर लेख पढ़ने के लिए आभार ! आने वाला समय आपके जीवन में शुभ हो ! फिर मुलाकात होगी किसी नए आर्टिकल में ..

निवेदन : – यदि आप हिन्दी में विविध विषयों पर अच्छा लिखते हैं या आपको अच्छा इमेज बनाने आता है या कोई ऐसी skill आपमें है जिसकी आप समझते हैं कि vicharkranti blog को जरूरत हो सकती है तो कृपया आप हमारे पेज work4vicharkranti पर जाकर अपना details सबमिट कीजिए । साथ ही हमें एक मेल भी डाल दीजिए हमारा email id है -contact@vicharkranti.com । हमारी टीम आपसे संपर्क कर लेगी ।

विचारक्रान्ति के लिए-अंशिका

Advertisements
VicharKranti Editorial Team
VicharKranti Editorial Team
जरूरत भर की नई और सही सूचनाओं को आप तक पहुंचाना ही लक्ष्य है । विद्यार्थियों के लिए करियर और पढ़ाई लिखाई के अतिरिक्त प्रेरक content लिखने पर हमारा जोर है । हमारे लेखों पर अपने विचार comment box में लिखिए और विचारक्रान्ति परिवार का हिस्सा बनने के लिए नीचे दिए गए सोशल मीडिया हैंडल पर हमसे जुड़िये

Subscribe to our Newsletter

हमारे सभी special article को सबसे पहले पाने के लिए न्यूजलेटर को subscribe करके आप हमसे फ्री में जुड़ सकते हैं । subscription confirm होते ही आप नए पेज पर redirect हो जाएंगे । E-mail ID नीचे दर्ज कीजिए..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

आपके लिए कुछ और पोस्ट

VicharKranti Student Portal

छात्रों के लिए कुछ positive करने का हमारा प्रयास । इस वेबसाईट का एक हिस्सा जहां आपको मिलेंगी पढ़ाई लिखाई से संबंधित चीजें ..