Homeसामान्य ज्ञानगणतंत्र दिवस से जुड़े रोचक जानकारियां-Republic Day Facts

गणतंत्र दिवस से जुड़े रोचक जानकारियां-Republic Day Facts

26 जनवरी आने वाला है तो हमने सोचा क्यों नहीं आपके साथ गणतंत्र दिवस से जुड़े कुछ रोचक जानकारियों(republic day facts)को शेयर किया जाय।आगे पढ़िए गणतंत्र दिवस से सम्बंधित कुछ कम जाने गए जानने योग्य जानकारियों की सूची गणतंत्र दिवस और हमारे संविधान से संबंधित ।

गणतंत्र दिवस पर भाषण से संबंधित एक article हमने लिखा है।जिसे पढ़कर आप अपना भाषण तैयार करने में मदद ले सकते हैं। फ़िलहाल  यहां हम 26 जनवरी यानी कि गणतंत्र दिवस से संबंधित कुछ मुख्य बातें कुछ कम जाने गए तथ्य आपके सामने रख रहे हैं ।

Advertisements

Point-Wise Republic Day Facts in Hindi

कांग्रेस के लाहौर अधिवेशन में ही पूर्ण स्वतंत्रता दिवस मनाने की घोषणा कर दी गई थी तथा पहली बार  पूर्ण स्वराज्य दिवस अथवा पूर्ण स्वतंत्रता दिवस को 26 जनवरी 1930 को मनाया गया ।

republic-day-facts-hindi,vicharkranti.com

गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 1950 को पहली बार मनाया गया। उससे पहले भारत के पास कानून व्यवस्था के संचालन के लिए कोई अपना कानून नहीं था और भारत की विधि व्यवस्था ब्रिटिश सरकार द्वारा बनाए गए गवर्नमेंट ऑफ इंडिया एक्ट के आधार पर ही चलाई गयी ।

9 दिसंबर 1946 को संविधान बनाने के लिए संविधान सभा का गठन किया गया।संविधान सभा के पहले अध्यक्ष सच्चिदानंद सिन्हा थे, बाद में इस पद पर डॉ राजेंद्र प्रसाद को नियुक्त किया गया। संविधान सभा की प्रारूप समिति अथवा विधिवेत्ताओं की जो समिति थी उस समिति का अध्यक्ष डॉक्टर बी आर अंबेडकर को नियुक्त किया गया ।

लोग ये भी पढ़ रहें हैं आप भी पढ़ें :-

भारत के प्रथम राष्ट्रपति के तौर पर डॉ राजेंद्र प्रसाद ने 26 जनवरी 1950 को 10 बजकर 20 मिनट पर शपथ ग्रहण किया ।

republic day facts
Source: Internet

भारतीय संविधान की मूल प्रतियां हस्तलिखित है। भारतीय संविधान की केवल 2 मूलप्रति है- एक हिंदी में तथा दूसरा अंग्रेजी में ।

भारतीय संविधान की असली प्रतियों को संसद भवन की लाइब्रेरी में नाइट्रोजन गैस युक्त बक्से में सुरक्षित रखा गया है। इस बक्से की मॉनिटरिंग के लिए दो कंट्रोल मीटर भी लगाए गए हैं ।

भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है इसमें कुल 444 आर्टिकल 22 भाग 12 शेड्यूल हैं ।

Advertisements

भारतीय संविधान की मूल हस्तलिखित प्रति पर 24 जनवरी 1950 को कुल 308 सदस्यों ने हस्ताक्षर किए थे ।

भारत का गणतंत्र दिवस तीन दिवसीय समारोह है,जिसकी शुरुआत 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के साथ होता है और समापन 29 जनवरी को विजय चौक पर बीटिंग रिट्रीट समारोह के साथ। बीटिंग रिट्रीट में भारत की तीनों सेनाओं के बैंड अपना-अपना  प्रदर्शन करते हैं।

republic-day-facts-hindi,vicharkranti.com,

गणतंत्र दिवस के परेड में एक ईसाई गीत Abide With Me को भी गाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि यह गांधी जी का प्रिय गीत था इसलिए इसको परेड में शामिल किया गया है ।

इंडोनेशिया के राष्ट्रपति डॉ सुकर्णो भारतीय गणतंत्र दिवस के परेड में भाग लेने वाले पहले राष्ट्राध्यक्ष हैं ।

गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन राजपथ पर पहली बार 1955 में किया गया। उससे पहले तक यानि की 1950 से 1954 तक यह नेशनल स्टेडियम(इरविन स्टेडियम) लाल किला, रामलीला मैदान तथा किंग्सवे में मनाया जाता था ।

राजपथ परेड के अद्भुत नजारे को देखने वाले पहले विदेशी मेहमान थे पाकिस्तान के प्रथम गवर्नर जनरल मलिक गुलाम मोहम्मद ।

भारत का राष्ट्रगान “जन गण मन अधिनायक जय हे” को 24 जनवरी 1950 को स्वीकृत किया गया था.इसे गाने में लगभग 52 सेकंड का समय लगता है ।

भारत का अधिकृत राष्ट्रगान “जन गण मन अधिनायक जय हे” मूलतः बांग्ला भाषा में लिखा गया था जिसे बाद में हिंदी में अनूदित किया गया ।

जैसा कि हम सब जानते हैं भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है और हमारे संविधान में दुनिया के कई संविधानों से चीजों को समाहित किया गया है। भारतीय संविधान में स्वतंत्रता समानता और बंधुत्व की बात को फ्रांसीसी संविधान से लिया गया है तथा पंचवर्षीय योजना यूएसएसआर(विघटन से पूर्व रूस यानि सोवियत रूस) के संविधान से  लिया गया है ।

भारत के संविधान का कोई भी मुद्रित अथवा प्रिंटेड कॉपी उपलब्ध नहीं है.अब तक संविधान की लगभग 1000 कॉपी को हाथ से  ही लिखा गया है ।

स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते हैं,उसी प्रकार गणतंत्र दिवस पर देश के राष्ट्रपति देश को संबोधित करते हैं ।

देश के तमाम सर्वोच्च नागरिक सम्मान तथा अन्य पुरस्कारों(भारत रत्न, पद्म पुरस्कार, अशोक चक्र तथा कीर्ति चक्र ) की घोषणा गणतंत्र दिवस के अवसर पर ही होता है ।

मुझे पूरी उम्मीद है गणतंत्र दिवस के कुछ कम परिचित तथ्यों से भरपूर यह लेख(republic day facts)आपको पसंद आया होगा. आपके अनुसार अगर कुछ छूट गया हो तो उसे भी कमेंट बॉक्स में लिखिए,साथ ही लिखिए इस लेख पर अपने विचार… !

आपके जीवन में तो शुभ हो सब इसी प्रार्थना के साथ फिर मिलेंगे जय हिंद ! वंदे मातरम !

यदि आपको हमारा प्रयास अच्छा लगा हो तो इस लेख पर अपने विचार आगे comment box में लिख कर जरूर भेजें । इसे अपने दोस्तों के साथ social media पर भी शेयर करें एवं ऐसे ही अच्छी जानकारियों के लिए हमें सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर लें ।

निवेदन : – हमें अपनी टीम में ऐसे लोगों की जरूरत है जो हिन्दी में अच्छा लिख सकते हों । यदि आप हमारी टीम में एक कंटेन्ट राइटर के रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आगे दिए गए ईमेल पते पर मेल कीजिए । प्रत्येक लेख और आपकी लेखन क्षमता के हिसाब से उचित राशि प्रदान की जाएगी । हमसे जुड़ने के लिए संपर्क कीजिये Email :contact@vicharkranti.com

Advertisements
Khushboo
विचारक्रांति टीम के सदस्य के रूप में लिखने के अलावा इस ब्लॉग के संचालन हेतु अन्य चीजों का प्रबंधन भी देखती हूँ ...सामान्य एवं आधारभूत जानकारियों को एकत्र करने एवं लिखने का शौक है । एक फुल टाइम गृहणी एवं पार्ट टाइम ब्लॉगर के रूप में समय और मूड के अनुसार सामान्य ज्ञान सहित विविध विषयों पर लिखतीं हूं ... । अच्छा पढ़ने और अच्छा लिखने की कोशिश जारी है ...

Subscribe to our Newsletter

हमारे सभी special article को सबसे पहले पाने के लिए न्यूजलेटर को subscribe करके आप हमसे फ्री में जुड़ सकते हैं । subscription confirm होते ही आप नए पेज पर redirect हो जाएंगे । E-mail ID नीचे दर्ज कीजिए..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

VicharKranti Student Portal

छात्रों के लिए कुछ positive करने का हमारा प्रयास | इस वेबसाईट का एक हिस्सा जहां आपको मिलेंगी पढ़ाई लिखाई से संबंधित चीजें ..

कुछ नए पोस्ट्स

amazon affiliate link

पढिए अच्छी किताबों में
सफलता के सीक्रेट