Homeकरियर(Career)पायलट कैसे बने | Pilot Kaise bane

पायलट कैसे बने | Pilot Kaise bane

इस लेख में हम बात करने वाले हैं रोमांच से भरे करियर यानि कि पायलट कैसे बने के बारे में । यह लेख मुख्य रूप से पायलट कैसे बना जाए – pilot kaise bane इसी के आस पास रहने वाला है इसमें हमने उन जानकारियों को लिखने का प्रयास किया है जिसे प्राप्त कर एक युवा विमान उड़ाने के क्षेत्र में अपना करियर बना सकता है ।

मित्र बचपन में हम सब कुछ न कुछ बनने का सपना देखते हैं । उस अबोध उम्र में ही अधिकतर विद्यार्थी प्रचलित ट्रेंड के अनुसार भविष्य में डॉक्टर, इंजीनियर बनने तथा अन्य क्षेत्रों में अपना करियर बनाने का लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं। इनमें से ही कुछ ऐसे युवा विद्यार्थी भी होते है जिनका सपना एक पायलट बनना होता है। 

आखिरकार विमान कुतूहल का विषय जो रहा लेकिन खुले आसमान में विमान उड़ाने के सपने देखने वाले मेरे नौजवान साथी युवाओं के लिए अत्यंत आवश्यक है, कि वे अपने सपने को पूरा करने के लिए इस क्षेत्र से संबंधित समस्त जानकारी प्राप्त करें। इसलिए आज यह लेख उन युवाओं के लिए महत्वपूर्ण है जो पायलट के तौर पर करियर बनाने के इच्छुक है। 

आज हम इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं कि पायलट कैसे बना जाए । सूचनाओं को क्रमिक रूप से लिखने का हमारा प्रयास है । चलिए जानते हैं पायलट बनने के बारे में ….

पायलट के रूप में करियर महत्व

सामान्यतः एक पायलट को हिंदी भाषा में विमान चालक कहा जाता है। पायलट किसी भी विमान को उड़ाने के लिए वह जिम्मेदार और सक्षम शख्स होता जिसे विभिन्न कॉरपोरेशन, कंपनियां तथा सरकार द्वारा विमान उड़ाने के लिए नियुक्त किया जाता है। इसके अतिरिक्त पायलट अपने स्वयं का प्राइवेट विमान भी उड़ा सकता है यदि उसके पास कोई विमान है तो एवं एक पायलट अपनी खुद की प्राइवेट एयर एलाइंस कंपनियां भी चला सकता है ।

पायलट बनने के बाद आपको विभिन्न स्थानों पर घूमने का मौका मिलता है। साथ ही आपकी (Lifestyle) जीवनशैली पर भी विशेष प्रभाव पड़ता है।

इस क्षेत्र में कार्य के साथ ही अच्छी आमदनी भी प्राप्त होती है। जो 1,00,000 से शुरू होकर कम से कम 11,00,000 तक निर्धारित की गई है। इसके अतिरिक्त एक पायलट का वेतन उसके पद तथा अनुभव के आधार पर तय किया जाता है। एक मोटी तनख्वाह और रोमांचक करियर के कारण देश के कई युवाओं का सपना पायलट बनने का होता है।

पायलट के मुख्य कार्य और योगदान 

कार्य के आधार पर पायलट को मुख्यतः दो वर्गों में विभाजित किया जा सकता है । जिसमें पहला होगा सैनिक विमान चालक और दूसरा होगा नागरिक विमान चालक ।

  • वायु सेना पायलट,
  • कॉमर्शियल / व्यावसायिक पायलट।

जैसा कि नाम से स्पष्ट है दोनों के कार्य में भारी अंतर रहने वाला है । सैनिक विमान चालक बनने के लिए आपको भारतीय सशस्त्र सेना के aviation wing में जाना पड़ेगा और नागरिक विमान चलाने के लिए आप ट्रेनिंग के पश्चात डोमेस्टिक और इंटरनेशनल विमानन की सेवा देने वाली कंपनियों में काम कर पाएंगे । यानि पायलटों को अपने कार्य स्थान और वर्ग के अनुसार कार्य करना होता है। 

वायु सेना पायलट के कार्य

वायु सेना पायलट मुख्य रूप से देश की वायु सुरक्षा के लिए कार्यरत होते हैं। यदि आप वायु सेना के अन्तर्गत पायलट बनना चाहते है तो आपको देश की सुरक्षा में लगे सैन्य विमानों को उड़ाने का मौका मिलेगा । जहां आप एक मिलिट्री प्लेन की खूबियों और ताकत को जान पाएंगे वहीं आपको वायु युद्ध के कौशल को भी सीखना पड़ेगा । वायु सेना पायलट को दुश्मन सेना के विमानों को नष्ट करना होता है। युद्ध के दौरान बमबारी का कार्यभार संभालना होता है। साथ ही युद्ध पर स्थित सेना को सहायता पहुंचाना होता है।

वायु सेना से retirement के बाद आप असैन्य विमान तो उड़ा ही सकते हैं । कंपनियां ऐसे अनुभवी पायलट की तलाश में ही रहती हैं ।

व्यावसायिक पायलट के कार्य

एक व्यावसायिक (असैन्य ) पायलट को विमान उड़ाने के साथ ही अन्य कार्यों के प्रति भी सचेत होना पड़ता है। विमान उड़ाने के साथ ही इन्हें प्री- फ्लाइट प्लान्स पर भी ध्यान देना होता है। इतना ही नहीं मेट्रिलॉजिकल सूचनाओं को भी जमा करना पड़ता है। एक पायलट को पोस्ट फ्लाइट रिपोर्ट भी तैयार करनी पड़ती है। इसके अतिरिक्त, किसी प्रकार की यांत्रिक समस्या एवं सामान्य समस्या होने पर पूरी सतर्कता प्रदर्शित करनी पड़ती है।

एक पायलट के लिए सबसे महत्वपूर्ण तथा कठिन कार्य बिना आराम किए अधिक घंटों तक विमान चलाना है। साथ ही खराब मौसम या अन्य गड़बड़ियों के प्रति तुरन्त निर्णय लेने की क्षमता तथा अपने कार्य को जिम्मेदारी से पूर्ण करने का कार्यभार भी संभालना पड़ता है। आगे बात करते हैं पायलट बनने हेतु योग्यताओं के बारे में …

पायलट बनने के लिए आवश्यक योग्यता:-

यदि आप पायलट बनना चाहते है तो आप में निम्नलिखित योग्यताओं का होना आवश्यक है । एक सफल पायलट बनने के लिए आपको इन पैमानों पर खड़ा उतरना पड़ेगा ।

  • सर्वप्रथम पायलट के क्षेत्र में जाने वाले प्रतियोगी का भारत का नागरिक होना अनिवार्य है।(यह शर्त सैन्य विमानों को उड़ाने के लिए आवश्यक है ।)
  • पायलट बनने के लिए आपका साइंस स्ट्रीम से 12वीं पास होना अनिवार्य है। साथ ही 12वीं कक्षा में साइंस, कैमिस्ट्री, मैथ्स का होना जरूरी है। इन विषयों के साथ 50% अंक प्राप्त करना भी अनिवार्य है।
  • वायु सेना पायलट के लिए आयु सीमा 16 से 19 वर्ष या 20- 24 वर्ष होनी चाहिए। इसके अतिरिक्त, कॉमर्शियल पायलट बनने के लिए प्रतियोगी छात्र की उम्र 18 से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए ।
  • पायलट बनने के इच्छुक प्रतियोगी की आंखो का पूर्ण रूप से स्वस्थ होना अनिवार्य है। यानि कि प्रतियोगी छात्र की आंख का विजन 6/6 होना जरूरी है।
  • पायलट बनने के लिए आपकी लंबाई 5 फीट तक होनी आवश्यक है। 
  • एक अच्छा पायलट बनने के लिए अंग्रेजी में दक्षता आवश्यक है । यदि आप पायलट बनने का शौक रखते हैं तो धाराप्रवाह अंग्रेजी बोलने में महारत हासिल करना आपका शुरू से ही लक्ष्य होना चाहिए ।

पायलट बनने के लिए प्रमुख कोर्स और परीक्षाएं 

यदि आप जानना चाहते हैं पायलट कोर्स में दाखिल होने की प्रक्रिया या जानना चाहते हैं कि कॉमर्शियल पायलट कैसे बने commercial pilot kaise bane तो चलिए जानते हैं आगे …

पायलट कोर्स में दाखिला लेने हेतु आपको 12 वीं कक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद, प्रवेश परीक्षा/ एंट्रेंस एग्जाम पास करना पड़ता है। पायलट बनने हेतु आयोजित होने वाली प्रवेश परीक्षा 3 चरणों में आयोजित होती है । ये हैं –

  1. लिखित परीक्षा,
  2. मेडिकल परीक्षा,
  3. साक्षात्कार।

इसके पश्चात्, आपको पायलट स्टूडेंट लाइसेंस के लिए परीक्षा कई विषयों जैसे कि – एयर नेविगेशन और इंजन,एयर रेग्यूलेशंस, एविएशन मेट्रोलॉजी आदि विषयों में परीक्षा देनी होती है । विमान उड़ाने के लिए सर्वप्रथम एक विद्यार्थी के रूप में आपको SPL यानी स्टूडेंट पायलट लाइसेंस (Student Pilot License) दिया जाता है।

यह परीक्षा संबंधित प्रशिक्षण केन्द्र के डायरेक्टर जनरल द्वारा ली जाती है। इसके बाद आपको छोटे विमान उड़ाने की ट्रेनिंग दी जाती है।इसके अंतर्गत मुख्य परीक्षाएं तथा ट्रेनिंग करने के पश्चात आपको PPL यानी प्राइवेट पायलट लाइसेंस (Private Pilot License ) प्राप्त करने के लिए आवेदन करना होगा। PPL के लिए 60 घंटे की उड़ान जरूरी है ।

इसके अंतर्गत मुख्य परीक्षा तथा ट्रेनिंग करने के बाद आप सीपीएल (CPL) यानी कमर्शियल पायलट लाइसेंस प्राप्त करने के योग्य हो जाते हैं। CPL से पहले आपको मेडिकल टेस्ट भी देना होता है । CPLके लिए कुल 250 घंटे की उड़ान भरनी एक आवश्यक योग्यता है ।

इन तीनों लाइसेंस ( SPL, PPL, CPL) प्राप्त करने के बाद आप एक पेशेवर पायलट बन जाते हैं।

वायु सेना पायलट

लेख में आगे जानते हैं की एयर फोर्स में पायलट कैसे बने (air force pilot kaise bane) ऊपर बताए गए तरीके के अतिरिक्त, आप वायु सेना का पायलट बनने के लिए 12 वीं के बाद upsc द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं जिनका जिक्र आगे किया गया है, के माध्यम से भी पायलट हेतु चयनित हो सकते हो।

  • NDA (National defense academy)
  • CDSE (Combined defense service exam)
  • SSCE ( Short service commission entry)

ग्रेजुएशन के बाद पायलट बनने के लिए आपको अन्य कोर्स करने पड़ते हैं। जिनके लिए आपको कठिन प्रवेश परीक्षा से गुजरना पड़ता है। इनकी ट्रेनिंग 3 वर्ष की होती है। ट्रेनिंग के बाद प्रतियोगी को इंडियन एयरफोर्स में पायलट के तौर पर नियुक्त कर दिया जाता है।

पायलट के लिए कोर्स के प्रकार एवं अवधि 

पायलट कैसे बने (pilot kaise bane) में आगे जानते हैं फ्लाइइंग स्कूल और अवधि के बारे में … दोस्त पायलट बनने के लिए आपको सबसे पहले DGCA (Directorate General of Civil Aviation) से मान्यता प्राप्त फ्लाइंग स्कूल से कमर्शियल पायलट का कोर्स करने के लिए प्रवेश परीक्षा देनी पड़ती है। फ्लाइइंग स्कूल में दाखिला हेतु आपको सिक्योरिटी क्लीयरेंस , बैंक गारंटी और मेडिकल सर्टिफिकेट भी देनी पड़ती है ।

पायलट कोर्स की अवधि लगभग 18-24 महीने की होती है। लेकिन इस प्रशिक्षण के साथ भारत में आपको एक पायलट बनने में 2 से 3 साल का समय लग जाता है।विदेश में पायलट बनने के लिए आपको इससे थोड़ा कम समय लगता है। 

पायलट बनने के लिए प्रमुख कॉलेज 

चलिए आगे जानते हैं पायलट कैसे बने (aeroplane pilot kaise bane) में कुछ प्रमुख फ्लाइइंग स्कूल के बारे में । भारत में DGCA (Directorate General of Civil Aviation) द्वारा मान्यता प्राप्त कुछ ऐसे संस्थान है जो एक पेशेवर पायलट के रूप में करियर बनाने के लिए आपको उचित रूप से कौशल प्रशिक्षण देते हैं।‌‌

ये प्रमुख कॉलेज निम्नलिखित हैं-

  1. इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी,
  2. राजीव गांधी एकेडमी ऑफ एविएशन टेक्नोलॉजी,
  3. उडयन और विमानन सुरक्षा संस्थान,
  4. बॉम्बे फ्लाइंग क्लब 
  5. गवर्नमेंट एविएशन‌ ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट,
  6. मध्य प्रदेश फ्लाइंग क्लब
  7. चाइम्स एविएशन‌
  8. राष्ट्रीय उड़ान प्रशिक्षण संस्थान,
  9. पांडुचेरी ठाकुर कॉलेज आफ एविएशन,
  10. अहमदाबाद एविएशन‌ एंड एरोनॉटिक्स लिमिटेड।

आप निजी तौर पर इन संस्थानों के बारे में जरूर जानकारी प्राप्त करें और अपनी अनुकूलता के अनुसार ही इनमें प्रवेश ले … !

पायलट की विशेषज्ञता प्राप्त करने के अवसर 

पायलट के रूप में कार्य करने का अवसर आपको तभी प्राप्त होता है जब आपने पायलट हेतु निर्धारित कोर्स तथा परीक्षाओं को उचित अंकों के साथ पास किया हो। विशेषज्ञता प्राप्त करने की बात करें तो, जब आप 250 घंटे की उड़ान पूरा करने का लक्ष्य पूरा कर लेते हैं तभी आपको CPL प्राप्त होता है। इसके अतिरिक्त, जब कोई पायलट 750 घंटों से ज्यादा समय तक विमान उड़ाने में सफलता हासिल करता है तब उसे SPCL अर्थात सीनियर कमर्शियल पायलट लाइसेंस प्राप्त हो जाता है‌।

कोर्स कम्प्लीट करने के बाद भी आपको लगातार चीजों और टेक्नॉलजी के बारे में सीखना तो पड़ेगा ही … !

पायलट बनने के लिए उसकी पढ़ाई में आने वाली खर्च का विवरण

पायलट कैसे बने में आगे जानिए पायलट बनने में आने वाले खर्च के बारे में  । दोस्त पायलट भारत में उपलब्ध कुछ सबसे महंगे कोर्स में से एक है । इसमें सैद्धांतिक चीजों की जानकारी के अतिरिक आपको कोर्स पूरा करते करते कम से कम 250 घंटों की उड़ान भी जरूरी है ।

देखा जाए तो एक पायलट बनने के लिए आपको लाखों रुपए खर्च करने पड़ते हैं। एक पेशेवर पायलट बनने के लिए आपको एक अच्छे संस्थान में प्रवेश लेना पड़ता है। चूंकि फ्लाइइंग क्लब या फ्लाइइंग स्कूल भी देश में कम ही हैं इसलिए पायलट बनने के लिए जो कोर्स कराए जाते हैं उनकी फीस अधिक होती है। जिस कारण पायलट बनने के लिए 20 से 40 लाख के खर्च तो अमूमन आ ही जाता है।

इसके अतिरिक्त, पायलट के कोर्स करने में होने वाला खर्च इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपने किस प्रकार के संस्थान अथवा कॉलेज में प्रवेश लिया है। दूसरी ओर, यदि आप इससे कम खर्चे में पायलट बनना चाहते हैं तो इंडियन एयर फोर्स‌ पायलट बनने के लिए एक अच्छा विकल्प है। क्योंकि इसमें सरकारी तौर पर प्रशिक्षण तथा पढ़ाई करवाई जाती है। जिस कारण इसमें आपको निःशुल्क पायलट बनने के साथ अपनी देश को सेवा करने का परम पुनीत अवसर भी मिल जाता है ।

इति

हमें पूरा विश्वास है कि यह करियर लेख पायलट कैसे बने | Pilot Kaise bane आपको पसंद आया होगा ,इस लेख पर अपने विचार अथवा आवश्यक संसोधन हेतु सुझाव नीचे कमेन्ट बॉक्स में जरूर लिखिए । इस लेख को अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल्स पर शेयर भी करे क्योंकि Sharing is Caring !

बने रहिये Vichar Kranti.Com के साथ । अपना बहुमूल्य समय देकर लेख पढ़ने के लिए आभार ! आने वाला समय आपके जीवन में शुभ हो ! फिर मुलाकात होगी किसी नए आर्टिकल में ..

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो आपको हमारा फेसबुक पेज जरुर पसंद आएगा…! हमसे जुड़ने के लिए इस लिंक >> विचारक्रांति फेसबुक पेज << पर क्लिक करके आप हमसे Facebook पर जुड़ सकतें हैं

निवेदन : – हमें अपनी टीम में ऐसे लोगों की जरूरत है जो हिन्दी में अच्छा लिख सकते हों । यदि आप हमारी टीम में एक कंटेन्ट राइटर के रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आगे दिए गए ईमेल पते पर मेल कीजिए । प्रत्येक लेख और आपकी लेखन क्षमता के हिसाब से उचित राशि प्रदान की जाएगी ।


इसके अलावा यदि कोई धनराशि प्राप्त किए बिना, आप हिंदी में कुछ मोटिवेशनल अथवा अन्य आर्टिकल लिख कर हमारा सहयोग करना चाहते हैं तो भी आपका स्वागत है ! लिख भेजिए अपने फोटो के साथ हमारे Email पते पर । हम उसे समीक्षा के पश्चात आपके नाम से प्रकाशित कर देंगे । हमसे जुड़ने के लिए संपर्क कीजिये Email :contact@vicharkranti.com

विचारक्रान्ति के लिए -अंशिका जौहरी

Vichar Kranti
विचारक्रांति टीम (Vichar-Kranti.Com) - चंद उत्साही लोगों की टीम जो आप तक पहुंचाना चाहते हैं सही और जीवनोपयोगी सूचनाओं के साथ जीवन बदलने वाले सकारात्मक विचारपुंजों को । उदेश्य सिर्फ एक कि - सब आगे बढ़े और सबके साथ हम भी ! आप भी अगर कुछ अच्छा लिखते हैं, तो जुड़ जाईये न हमारे साथ ... मिलकर कुछ अच्छा करते हैं ...! संपर्क सूत्र : contact@vicharkranti.com जय विचारक्रांति !

इस पोस्ट पर अपनी प्रतिक्रिया,अपनी बातें यहां नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर हम तक जरूर भेजिए.सभी नए पोस्ट के ईमेल नोटिफिकेशन पाने के लिए नीचे चेकबॉक्स को टिक करिये. धन्यवाद...!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

कुछ नए पोस्ट्स

संबद्ध लिंक अमेजन -

पढिए अच्छी किताबों मे
सफलता के सीक्रेट

Vichar-Kranti

पढ़िए जीवन बदलने वाले Ideas,महापुरुषों के प्रेरक वचन,जीवनी, करियर के विकल्प और भी बहुत कुछ...जुड़िये विचारक्रांति से

error: Content is protected !!