HomeHindiमित्रता पर कविताएं | Poem on Friendship in Hindi

मित्रता पर कविताएं | Poem on Friendship in Hindi

इस लेख में हमने प्रस्तुत किया है मित्रता पर कुछ बेहतरीन कविताएं (poem on friendship in hindi) , जो आपको निश्चय ही अच्छी लगेंगी । मित्रता संबंधों के खजाने का वो अकेला बहुमूल्य रत्न है जिसकी उपस्थिति मात्र से ही इस खजाने की खनक और जीवन की सदाबहार चमक हमेशा बरकरार रहती है । मित्रता पर अब तक बहुत कुछ कहा जा चुका है हमने कोशिश की है मित्रता पर मेरी कुछ प्रिय रचनाओं (poems on friendship in hindi ) को आपके सामने प्रस्तुत करने का ।

इस पोस्ट को मैं समर्पित करता हूँ अपने लँगोटिया यारों को जिनकी साथ बिताए जीवन के स्वर्णिम समय का अनमोल अनुभव मेरे जीवन की एक विशिष्ट उपलब्धि है । जीवन के जंजाल से मिले कुछ फुरसत के पलों में बने मिलन-संयोग की नियति का हमें पूर्वाभास था ,लेकिन नम आंखे और मायूस चेहरों से दी गई वो शुभकामना पूर्ण विदाई शब्दों की सीमाओं से परे हैं ।

Advertisements

दिल में बसे और दिल में बसाये उन्हीं दोस्तों को समर्पित यह कविता(friendship poem) …

दोस्ती पर कविताएं poem on friendship in Hindi


कविता 1 : कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं ।

मैं यादों का किस्सा खोलूँ तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं ।

मैं गुजरे पल को सोचूँ तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं।

अब जाने कौन-सी नगरी में,
आबाद हैं जाकर मुद्दत से

मैं देर रात तक जागूँ तो ,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं।

कुछ बातें थीं फूलों जैसी,
कुछ लहजे खुशबू जैसे थे,
मैं शहर-ए-चमन में टहलूँ तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं।

सबकी जिंदगी बदल गई,
एक नए सिरे में ढल गई,

किसी को नौकरी से फुरसत नहीं
किसी को दोस्तों की जरूरत नही

Advertisements

सारे यार गुम हो गए हैं
तू से तुम और आप हो गए हैं

मैं गुजरे पल को सोचूँ तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं ।

धीरे धीरे उम्र कट जाती है
जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है,
कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है
और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है

किनारों पे सागर के खजाने नहीं आते,
फिर जीवन में दोस्त पुराने नहीं आते

जी लो इन पलों को हंस के दोस्त,
फिर लौट के दोस्ती के जमाने नहीं आते

मैं यादों का किस्सा खोलूँ तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं ।

हरिवंश राय बच्चन

कविता 2 : हां मित्रता विश्वास है ।

हां मित्रता विश्वास है ।

मन गगन उपवन
चित चपल चंचल
सहयोग भी निस्वार्थ है
हां मित्रता विश्वास है ।

निज मित्र के उत्थान में
अपना भी गौरव गान है ।
हों तन भले ही दो
मन एक विद्यमान है ।
संबंध के अनुबंध में
संबंध यह कुछ खास है
हां मित्रता विश्वास है ।

निज मित्र के कल्याण को
श्री कृष्ण ने प्रण तोड़कर
बलिदान हो गया कर्ण भी
सर्वस्व अपना छोड़कर
इस प्रेममय संबंध का
बस त्याग ही विज्ञान है
हां मित्रता विश्वास है ।

हो हर तरफ आनंद या
फिर जिंदगी की धूप हो
दुःख की घिरी हो बदलियां
या कुछ’ और समय का रूप हो
जीवन के झंझावात में
मित्रता एक आस है
हां मित्रता विश्वास है ।

रितेश जी

कविता 3: मित्रता और पवित्रता

आडम्बर में
समाप्त न होने पाए
पवित्रता

और समाप्त न होने पाए
मित्रता
शिष्टाचार में

सम्भावना है
इतना-भर
अवधान-पूर्वक

प्राण-पूर्वक सहेजना है
मित्रता और
पवित्रता को !

श्री भवानी प्रसाद मिश्र

कविता 4 : दोस्ती क्या है

दोस्ती रंग है
जीने का ढंग है
जीवन की जंग का
अल्हड़ हुड़दंग है
फिर पूछते हो दोस्ती क्या है

दोस्ती मुस्कान है
जीवन विज्ञान है
प्रेममय जीवन का, औषधि महान है
और थोड़ा जानो दोस्ती है क्या

दोस्ती गीता का ज्ञान है
सुग्रीव के राम का अभिमान है
कर्ण का त्याग है
और सुदामा का मान है

और थोड़ा जानो दोस्ती है क्या

भगवान का वरदान है
अपनेपन का भान है
निष्कपट है निश्छल है
हर द्वन्द से अनजान है
इंसान की इंसानियत

इंसान की इंसानियत
और कुदरत का इलहाम है
सत्य की पहचान है

दोस्ती पूजा है
दोस्ती ईबादत है
आस्था और विश्वास है
दुनिया को सुंदर बनाने का प्रयास है दोस्ती

रितेश जी

कविता 5 : दोस्त ही हमको है काम आने वाला

जब कहीं कोई और न हो साथ निभाने वाला
हमारा दोस्त ही हमको है काम आने वाला

सुख की डगर हो या दुख की पगडंडी हो
जिंदगी की धूप से दोस्ती की छांव ही है बचाने वाला
हमारा दोस्त ही है हमको काम आने वाला

कठिन समय में मन की पीड़ा मन ही घुटती रहती है
मन की बातें कहां सभी से कही जाती हैं
दोस्त बिन चैन नहीं दिल को आने वाला
हमारा दोस्त ही हमको यह काम आने वाला

जिसके साथ हमेशा बचपन जीते हैं
कठिन समय में प्रेम सुधा हम पीते हैं
और नहीं कोई अपना बचपन लौट आने वाला
अपना दोस्त ही हमको यह काम आने वाला

जीवन की ऊंचाई में खुशियां की बांटे
कठिन समय में जो हर बोझ उठाता है
मलिन मुखौटा तुरत फेकता है बाहर
हंसकर जो गम बांट लेते हैं हमारा
इस दुनिया में ऐसा कौन है हिम्मतवाला
अपना दोस्त ही हमको है काम आने का

कविता 6: दोस्ती का रिश्ता

दोस्ती का रिश्ता
ही निराला होता है

दोस्ती दिलों को जोड़ती है
जिंदगी को खुशियों की ओर मोड़ती है
दिलों में प्रेम की धार छोड़ती है
दोस्ती का रिश्ता ही निराला होता है

दोस्ती जीवन में विश्वास जगाती है
जीने की आस जगाती है
दोस्त को दोस्त के लिए खास बनाती है
दोस्ती का रिश्ता ही निराला होता है

दोस्ती मुश्किलों से बचाती है
हारे हुए बंद को प्यार से चलाती है
प्रेम पीपसा को प्यार से बुझाती हैं
दोस्ती का रिश्ता ही निराला होता है

इस पोस्ट (friendship poem in hindi) मित्रता पर एकत्रित खूबसूरत हिन्दी कविताओं (poem on friendship in hindi)पर आपकी सभी टिप्पणियां नीचे कमेंट बॉक्स में सादर आमंत्रित हैं …लिख कर जरूर भेजें ! इसे अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल्स पर शेयर भी करे क्योंकि Sharing is Caring !

अन्य कविताएं

बने रहिये Vichar Kranti.Com के साथ । अपना बहुमूल्य समय देकर लेख पढ़ने के लिए आभार ! आने वाला समय आपके जीवन में शुभ हो ! फिर मुलाकात होगी किसी नए आर्टिकल में ..

यदि आपको हमारा प्रयास अच्छा लगा हो तो इस लेख पर अपने विचार आगे comment box में लिख कर जरूर भेजें । इसे अपने दोस्तों के साथ social media पर भी शेयर करें एवं ऐसे ही अच्छी जानकारियों के लिए हमें सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर लें ।

निवेदन : – हमें अपनी टीम में ऐसे लोगों की जरूरत है जो हिन्दी में अच्छा लिख सकते हों । यदि आप हमारी टीम में एक कंटेन्ट राइटर के रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आगे दिए गए ईमेल पते पर मेल कीजिए । प्रत्येक लेख और आपकी लेखन क्षमता के हिसाब से उचित राशि प्रदान की जाएगी । हमसे जुड़ने के लिए संपर्क कीजिये Email :contact@vicharkranti.com

Advertisements
Khushboo
विचारक्रांति टीम के सदस्य के रूप में लिखने के अलावा इस ब्लॉग के संचालन हेतु अन्य चीजों का प्रबंधन भी देखती हूँ ...सामान्य एवं आधारभूत जानकारियों को एकत्र करने एवं लिखने का शौक है । एक फुल टाइम गृहणी एवं पार्ट टाइम ब्लॉगर के रूप में समय और मूड के अनुसार सामान्य ज्ञान सहित विविध विषयों पर लिखतीं हूं ... । अच्छा पढ़ने और अच्छा लिखने की कोशिश जारी है ...

Subscribe to our Newsletter

हमारे सभी special article को सबसे पहले पाने के लिए न्यूजलेटर को subscribe करके आप हमसे फ्री में जुड़ सकते हैं । subscription confirm होते ही आप नए पेज पर redirect हो जाएंगे । E-mail ID नीचे दर्ज कीजिए..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

VicharKranti Student Portal

छात्रों के लिए कुछ positive करने का हमारा प्रयास | इस वेबसाईट का एक हिस्सा जहां आपको मिलेंगी पढ़ाई लिखाई से संबंधित चीजें ..

कुछ नए पोस्ट्स

amazon affiliate link

पढिए अच्छी किताबों में
सफलता के सीक्रेट