Homeकरियर(Career)गणित में करियर | Career in Mathematics

गणित में करियर | Career in Mathematics

ad-

10वीं कक्षा उतीर्ण होते ही सामान्य छात्रों के लिए एक बड़ी समस्या यह हो जाती है कि आगे किस विषय के साथ पढ़ाई किया जाए जिससे उनका भविष्य उज्ज्वल हो ! जिन विद्यार्थियों की रुचि गणित विषय में होती है और जो गणित में करियर निर्माण करना चाहते हैं , कई बार ऐसे विद्यार्थी भी उचित ज्ञान और मार्गदर्शन के अभाव में सही निर्णय लेने में स्वयं को असमर्थ पाते हैं ।

प्रस्तुत लेख उसी दिशा में हमारा एक लघु प्रयास है । विचारक्रांति की टीम ने इस बात पर ध्यान देते हुए ऐसे विद्यार्थियों के लिए गणित विषय से संबंधित करियर( career in mathematics ) की एक सूची तैयार की है । जिससे छात्र गणित के व्यापक क्षेत्र और उपलब्ध संभावनाओं को देखते हुए तार्किक निर्णय ले और स्वंय के विकास के साथ इस देश के विकास में भी योगदान दे सके। 

Advertisements

आगे प्रस्तुत है गणित विषय से संबंधित विभिन्न करियर विकल्पों की सूची । इस सूची में पहला विकल्प है –

गणित में करियर

गणितज्ञ  

गणितज्ञ वो होते हैं जो गणित के माध्यम से समस्याओं का समाधान करने के साथ ही गणित के अनुप्रयोगों के द्वारा विभिन्न तकनीकी विकास और आविष्कारों में अपना योगदान देते हैं । गणित में B.Sc. या M.Sc. के साथ ही अन्य उच्च शिक्षा की डिग्री  के द्वारा आप इस क्षेत्र में अपने करियर  का निर्माण कर सकते है । 

वर्तमान समय में सेलफोन, कंप्यूटर, जैसे मामूली उपकरणों से लेकर सैटेलाइट, रॉकेट जैसे जटिल उपकरणों के निर्माण में गणित और गणितज्ञ की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है । अंत: इस क्षेत्र में करियर की व्यापक संभावनाएं हैं। 

डाटा साइंटिस्ट/ बिज़नेस एनालिस्ट  

बिजनेस एनालिस्ट  और डाटा एनालिस्ट सूचना प्रौद्योगिकी में उपलब्ध विभिन्न टूलों का उपयोग करके अपने संगठन के लिए डाटा को प्रोसेस करके अपने संगठन को उसके व्यावसायिक लक्ष्य तक पहुंचने में मदद करते हैं । 

वर्तमान समय मे डाटा का अत्यधिक वैज्ञानिक और आर्थिक  महत्व है । इसी वजह से इस क्षेत्र में रोजगार की संभावनाएं बढ़ जाती है।

डाटा साइंटिस्ट का  प्रमुख कार्य विभिन्न प्रकार के डाटा या सूचना, जैसे- उपभोक्ता के व्यवहार का अध्ययन, विभिन्न प्रकार के पैटर्न और ट्रेंड  की पहचान करना तथा सूचनाओं को जमा और फिर उन सूचनाओं का विश्लेषण करने के लिए प्रक्रियाओं को निर्धारित करना आदि है ।  

आज डाटा किसी भी क्षेत्र में सफलता के द्वार की चाभी है । कंपनियां इन्हीं डाटा विश्लेषण के आधार पर अपनी आगे की रणनीतियाँ बनाती हैं । देश के किसी भी प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेज से डिग्री करने के बाद इस विषय में आगे करियर बनाया जा सकता है । 

मशीन लर्निंग 

आधुनिक समय मे मशीनों की बढ़ती उपयोगिता और उनकी दक्षता से बात आगे बढ़ कर अब ऑटोमेशन तक पहुँच चुकी है। अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(AI) के जरिये मशीनों को संचालित करने की टेक्नोलॉजी विकसित की जा रही है।

Advertisements

मशीन लर्निंग और आर्टफिशल इन्टेलिजन्स में  एल्गोरिथ्म का विशेष महत्व है । गणित आपको इन algorithms को समझने और algorithms को लिखने में भी आपकी काफी सहायता करता है ।  

इसलिए इस क्षेत्र (Machine Learning & Artificial Intelligence) में भारत सहित पूरे विश्व में संभावनाओं की कमी नहीं है। वस्तुतः विश्व की दिग्गज कंपनियों के द्वारा बड़ी संख्या में इस क्षेत्र से जुड़े लोगो को हायर किया जाता है । इंजीनियरिंग में graduate होने के बाद विशेषज्ञता के रूप में इन विषयों को चुना जा सकता है या फिर रुचि के अनुसार भी  इन विषयों की पढ़ाई की जा सकती है । 

सांख्यकीयविद (Statistician) 

जनसँख्या हो या शिक्षा स्वास्थ्य या फिर जीवन के किसी भी क्षेत्र से जुड़े ऐसे आँकड़ें जिनका विश्लेषण  किसी निष्कर्ष तक पहुँचने के लिए आवश्यक हो । ऐसे तमाम आंकड़ों को जुटाने तथा उनका विश्लेषण करने एवं ऐसे तमाम आंकड़ों को विभिन्न चार्ट के द्वारा प्रदर्शित करने का कार्य एक सांख्यिकीविद करता है ।

जो उपरोक्त आंकड़ो के साथ ही स्वास्थ्य सम्बन्धी आंकड़े, अपराध सम्बन्धी आंकड़े आदि का अध्यन करके एक उपयुक्त नीति बनाने में मदद करता है, जिससे प्रभावी रूप से समाज कल्याण हो सके ।

एक सांख्यिकीविद के रूप में  करियर बनाने के लिए 10+2 में गणित विषय की पढ़ाई अनिवार्य है ।  आगे आप गणित और स्टेटिस्टिक्स से बीएससी तथा एमएससी कर सकते है । 

ऑपरेशन रिसर्च एनालिस्ट  

इस क्षेत्र में विशेषज्ञ द्वारा उपलब्ध संसाधनों, जैसे- कर्मचारी, मशीन, समय एवं मटेरियल की संख्या एवं क्षमता के आधार पर किसी कार्य को पूर्ण करने के लिए गणित का प्रयोग किया जाता है । 

उदाहरण के लिए अमेज़न, फ्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा अपने सामानों के परिवहन के लिए इस क्षेत्र के विशेषज्ञों की सहायता ली जाती है ।  इस क्षेत्र में करियर निर्माण के लिए बैचलर इन मैथमेटिक्स/ इंजीनियरिंग/ स्टेटिस्टिक्स के साथ ही मैनेजमेंट के कोर्स के लिए MBA भी किया जा सकता है । 

 अर्थशास्त्री  

अर्थशास्त्र में सामान एवं सेवाओं के उत्पादन वितरण और खपत आदि का अध्ययन किया जाता है । वस्तुतः कृषि, व्यापार, उद्योग, वाणिज्य पर्यावरण, राजनीति जैसी चीजें भी अर्थशास्त्र में शामिल होती है । व्यापक विकास कार्यों की आवश्यकता के कारण इस क्षेत्र में रोजगार की भी व्यापक संभावना होती है ।

1991 के बाद से पूंजीवाद में वृद्धि होने से इस क्षेत्र में भी विकास के नए आयाम और प्रतिमान बने हैं ।  इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए बैचलर इन इकोनॉमिक्स के साथ ही अर्थशास्त्र विषय में  मास्टर डिग्री  भी किया जा सकता है । 

प्रोफेसर 

ऐसे छात्र जिनको पढ़ाने में ज्यादा रुचि है वह एक प्राध्यापक/प्रोफेसर के रूप में अपना करियर बना सकते है । गणित विषय का प्राध्यापक बनने के लिए आपको 10+2 में गणित अनिवार्य है । इसके बाद आगे बीएससी तथा एमएससी इन मैथमेटिक्स और फिर उसके बाद गणित विषय से पीएचडी करने के पश्चात आप इस पद तक पहुंच सकते हैं। 

चार्टर्ड अकाउंटेंट

एक चार्टर्ड अकाउंटेंट का काम किसी भी कंपनी के वित्तीय लेनदेन को सही से संभालना होता है । वैसे एक चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपका कॉमर्स बैक ग्राउन्ड से होना जरूरी होता है ।

इसके अतिरिक्त चार्टर्ड अकाउंटेंट के लिए भी गणित की अहम भूमिका होती है। इसमें Accounting, Taxation तथा Financial Management की पढ़ाई बहुत हद तक गणित से ही संबंधित है ।


उपरोक्त क्षेत्रों के अलावा भी कई ऐसे क्षेत्र है जिनमे गणित गौण रूप में  एक भूमिका निभाती है । जिसके लिए सम्पूर्ण गणित की आवश्यकता नहीं होती, इसमें गणित के कुछ खास भागों को ही प्रयोग में लाया जाता है ।  जैसे- मनोविज्ञान के क्षेत्र में IQ के प्रयोगों के लिए , तथा समाजशास्त्र में सामाजिक सर्वेक्षणों के लिए ।  इन क्षेत्रों  में गणित के किसी विशेष विशेषज्ञता के बिना भी करियर निर्माण किया जा सकता है । 

हमें पूरा विश्वास है कि हमारा यह करियर लेख गणित में करियर (Career in Mathematics) आपको पसंद आया होगा । त्रुटि अथवा किसी भी अन्य प्रकार की टिप्पणी नीचे कमेंट बॉक्स में सादर आमंत्रित हैं …लिख कर जरूर भेजें ! इस लेख को अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल्स पर शेयर भी करे क्योंकि Sharing is Caring !

बने रहिये Vichar Kranti.Com के साथ । अपना बहुमूल्य समय देकर लेख पढ़ने के लिए आभार ! आने वाला समय आपके जीवन में शुभ हो ! फिर मुलाकात होगी किसी नए आर्टिकल में ..

यदि आपको हमारा प्रयास अच्छा लगा हो तो इस लेख पर अपने विचार आगे comment box में लिख कर जरूर भेजें । इसे अपने दोस्तों के साथ social media पर भी शेयर करें एवं ऐसे ही अच्छी जानकारियों के लिए हमें सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर लें ।

निवेदन : – यदि आप हिन्दी में विविध विषयों पर अच्छा लिखते हैं या आपको अच्छा इमेज बनाने आता है या कोई ऐसी skill आपमें है जिसकी आप समझते हैं कि vicharkranti blog को जरूरत हो सकती है तो कृपया आप हमारे पेज work4vicharkranti पर जाकर अपना details सबमिट कीजिए । साथ ही हमें एक मेल भी डाल दीजिए हमारा email id है -contact@vicharkranti.com । हमारी टीम आपसे संपर्क कर लेगी ।

Advertisements
VicharKranti Editorial Team
VicharKranti Editorial Team
जरूरत भर की नई और सही सूचनाओं को आप तक पहुंचाना ही लक्ष्य है । विद्यार्थियों के लिए करियर और पढ़ाई लिखाई के अतिरिक्त प्रेरक content लिखने पर हमारा जोर है । हमारे लेखों पर अपने विचार comment box में लिखिए और विचारक्रान्ति परिवार का हिस्सा बनने के लिए नीचे दिए गए सोशल मीडिया हैंडल पर हमसे जुड़िये

Subscribe to our Newsletter

हमारे सभी special article को सबसे पहले पाने के लिए न्यूजलेटर को subscribe करके आप हमसे फ्री में जुड़ सकते हैं । subscription confirm होते ही आप नए पेज पर redirect हो जाएंगे । E-mail ID नीचे दर्ज कीजिए..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

आपके लिए कुछ और पोस्ट

VicharKranti Student Portal

छात्रों के लिए कुछ positive करने का हमारा प्रयास । इस वेबसाईट का एक हिस्सा जहां आपको मिलेंगी पढ़ाई लिखाई से संबंधित चीजें ..